chechak ka ilaj, chechak ka ilaj in hindi, chechak in hindi

चेचक का जड़ से इलाज : छोटी बड़ी माता के उपाय और लक्षण

बताये चेचक का इलाज के उपाय यह एक संक्रमित रोग है व छुआछूद से फैलता हैं. इसीलिए जिस व्यक्ति को चेचक की बीमारी होती उसे अलग जगह पर सोने की सलाह दी जाती हैं. इस रोग के लक्षण में सबसे पहले पेट पर फुंसी पैदा होती हैं.

भारत सरकार ने चेचक के टिके मुफ्त में सभी को लगवाए थे व अभी भी यह छोटे बच्चों नवजात शिशुओं को लगाए जाते हैं और भारतीय स्वास्थ्य संगठन के अनुसार चेचक का रोग का अस्तित्व ख़त्म हो चूका हैं, लेकिन यह बीमारी अभी भी कई लोगों को होती है.

इसे बड़ी माता व छोटी माता के नाम से भी जाना जाता हैं यहां हम आपको चेचक यानि बड़ी छोटी माता का इलाज के विषय में रामबाण घरेलु नुस्खे बताएंगे इनके जरिये आप कई हद तक इस बीमारी से राहत पा सकते हैं.

छोटे बच्चों शिशुओं व जिन लोगो की इम्युनिटी कमजोर होती है उन लोगो में चेचक होने की सम्भावना ज्यादा होती हैं.

  • पोस्ट को पूरा एन्ड तक पड़ें, जल्दबाजी न करे.

चेचक के लक्षण

  • चेचक एक वायरस वेरिसेला जोस्टर के संक्रमण से होता हैं, जब यह वायरस किसी व्यक्ति के शरीर में प्रवेश करता है तो उस व्यक्ति में चेचक के लक्षण दिखाई देने में 11 से 22 दिन का समय लगता है. और यह रोग 7 दिन से 11 दिन तक रहता हैं.
  • इसके मुख्य लक्षण में शरीर पर छोटे-छोटे दाने होना शुरू हो जाते हैं, यह दाने फुंसियों जैसे होते है व इनमे खुजली होती है साथ ही यह फूटते भी है जिससे त्वचा पर दाग का निशान रह जाता हैं.

chechak ke lakshan, chechak ke lakshan in hindi, chechak kaise hota hai

  • बुखार आता है
  • भूख लगना कम हो जाती हैं
  • सिर में दर्द होने लगता हैं
  • शारीरिक थकान होती हैं
  • आलस्य व उदासीपन होता हैं

शरीर पर दाने निकलने आने के बाद के लक्षण

  • मति भ्रम होना
  • भटकाव सा महसूस करना
  • चक्कर आना
  • धड़का का तेल चलना
  • सांस लेने में तकलीफ होना
  • खांसी होना
  • उलटी होना, जी मचलना
  • गर्दन में तकलीफ होना
  • 102 डिग्री का बुखार आना

चेचक होने के कारण

  • जैसा की हमने बताया की चेचक एक वायरस वेरिसेला जोस्टर से होता हैं, यह एक पीड़ित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फोड़े-फुंसी की उपद्रव से, थूक, छींक, म्यूकस, बिस्तर, कपडे, उसका झूठा पानी पिने से आदि से यह वायरस दूसरे व्यक्ति के शरीर में प्रवेश करता हैं. आगे हम आपको चेचक यानी छोटी माता का इलाज व बड़ी माता के घरेलु उपचार के विषय में घरेलु नुस्खे के बारे में बताने जा रहे हैं.

चेचक का इलाज के आयुर्वेदिक उपाय

छोटी बड़ी माता का इलाज

यह दो उपाय करे नहीं होगा जिंदगी में कभी चेचक –

  • चेचक से बचने के लिए – नीम के कोंपले यानि कोमल पत्ते और कालीमिर्च दोनों 7 की मात्रा में ले और रोजाना सुबह के समय खाली पेट दोनों को 7-7 की मात्रा में मिलाकर सेवन करे. इस छोटे से प्रयोग से चेचक के वायरस का जड़ से खत्म होता हैं व 1-2 साल तक दुबारा चेचक छोटी माता व बड़ी माता नहीं होती. यह चेचक के घरेलु नुस्खे में रामबाण हैं chechak ka ilaj में इसका प्रयोग जरूर करे.
  • जिन लोगों की रोगप्रतिरोधक क्षमता कमजोर है व हर साल अप्रैल जून मई के महीनो में उन्हें तुलसी के 5 पत्ते सुबह खाली पेट पीकर 1 गिलास पानी पीना चाहिए व नीम 1-2 के के पत्ते चबाकर खाने चाहिए. नीम के पत्तों व तुलसी के पत्तों का किसी भी तरह से प्रयोग करना चाहिए. अगर आप इनमे से एक प्रयोग को भी रोजाना करते है तो आपको कभी भी संक्रमित बीमारी, मलेरिया, टाइफाइड, डेंगू, पीलिया, चेचक चेचक आदि नहीं होंगे अथवा इस घरेलु उपाय को मई जून के महीने में या पुरे साल जरूर करे.

chechak ka ilaj, chechak ka ilaj in hindi, chechak in hindi

  • चार कालीमिर्च, 11 नीम के पत्ते और 11 तुलसी के पत्ते इन सभी को आपस में पीस ले व दिन में 2-3 बार हलके गर्म पानी के साथ रोगी को इसका सेवन लेना चाहिए.
  • दाग, फुंसी व उनके घाव पर शहद लगाने से भी बहुत आराम मिलता हैं.  शहद हर तरह से फायदा करती है अथवा त्वचा पर शहद लगाए.
  • नीम के थोड़े पत्ते तोड़ ले व अच्छे से पानी से साफ़ कर के इन को पीस कर पेस्ट बना लें, अब इस पेस्ट को अपनी त्वचा पर लगाए तो चेचक की फुंसी दाग में काफी आराम मिलता हैं.
  • चेचक में पीपल की 5-6 पत्ती, अब एक गिलास पानी ले और गैस पर बर्तन में रख दें अब पीपल की पत्तियों की डंडी तोड़ कर इस पानी में डालकर उबाले, इस पानी को तब तक उबले जब तक यह उबालकर आधा न रह जाये फिर हल्का गर्म रह जाने पर पि ले. यह रामबाण सिद्ध होता हैं, इसको रोजाना 7 दिनों तक सुबह शाम बनाकर पिए.
  • कच्चे करेले को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट ले व एक बर्तन में पानी डालकर इन टुकड़ों को भी डाल दें अब इसे अच्छे गैस पर रख कर अच्छे से उबाल लें फिर हलकार गर्म रह जाने पर रोगी को दिन में तीन से चार बार तक एक गिलास यह पानी पिलाये, यह चेचक की दवा के जैसे असर करता है.
  • 7 कालीमिर्च, 5 पानापोटी के पत्ते दोनों को आपस में मिलाकर पीस लें व रोगी को दिन में तीन से चार बार तक यह घोल रोगी को पिलाये तो चेचक की शिकायत में आराम मिलेगा.
  • चेचक के लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए रोजाना दिन में 2-3 बार नारियल पानी पिए व नारियल पानी को त्वचा पर लगाए इससे चेचक का प्रभाव कम होता हैं जल्द ही चेचक से आराम मिलता हैं.
  • चेचक से होने वाली खुजली का इलाज करने के लिए जौ को बिलकुल बारीक़ पीसकर बाथ टब में डाल दें व रोगी को इस बाथ टब में 15-20 मिनट तक बैठने के लिए कहे. अगर आपके पास बाथ टब नहीं है तो आप जौ के पाउडर डाले हुए पानी से स्नान कर सकते हैं. इस तरह खुजली से छुटकारा मिलेगा छोटी माता बड़ी माता दोनों का घरेलु उपचार होगा.
  • गाजर व धनिया का सेवन बहुत ही लाभदायक होता हैं, यह शरीर को अंदर से ठंडक प्रदान करता हैं व इन दोनों में ऐसे कई गुण होते हैं जो की चेचक को दूर करने में मदद करते हैं. इसके लिए आप गाजर और धनिया का सूप बनाकर रोजाना दिन में 1-2 पिए, गाजर का रस पिए व गाजर चबाकर भी खाये आदि इस तरह दोनों का हर तरह से सेवन करे.
  • सूरज मुखी पौधे के फूलों और हैजल की पत्तियों को पानी में डालकर रात भर ऐसे ही छोड़ दें. अब अगली सुबह इन दोनों को पानी से निकालकर पीस लें व पेस्ट बनाले और अपनी त्वचा पर दाग फुंसी घाव पर बनाये हुए इस पेस्ट को लगाए.
  • चेचक का इलाज में करेले के फल, पत्ते व बेल को बराबर मात्रा में लेकर इनको मिक्सर में डालकर juice रस बना ले फिर इस रस में से 15ML रस ले व एक-डेढ़ चम्मच शहद में मिलाकर रोगी को एक दिन में तीन से चार बार तक चटाये बड़ी माता में इस उपाय से राहत मिलती हैं.
  • चेचक के दाग फुंसी में तकलीफ होने पर रुद्राक्ष को घिसकर लगाए इससे 100% लाभ होगा.
  • चेचक के उपचार में उपवास बहुत लाभप्रद होता हैं, इसके लिए अपनी क्षमता अनुसार उपवास रख सकते है व इस उपवास में सिर्फ संतरे का रस व नींबू पानी का ही सेवन करे. एक दिन में 8-10 बार नींबू पानी पिए.
  • दवा में आप कुछ भी अपने मन से न लें, लक्षण नजर आने पर डॉक्टर को दिखाए व उनके द्वारा दी जाने वाली दवाइयों का ही सेवन करे, दाग से बेचैनी होने पर व इनसे तकलीफ होने पर भी चेचक की मेडिसिन का प्रयोग बिना किसी डॉक्टर की सलाह के न करे.

शरीर में पानी की कमी होने से बचाये, शरीर को चेचक के वायरस से लड़ने की क्षमता देने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पीना बहुत जरुरी होता हैं इसके लिए पानी के साथ साथ निचे दिए जा रहे उपाय भी करे चेचक की शिकायत में आराम मिलेगा.

चेचक से बचने व क्या करे क्या न करे उपाय

  • हलके सूती कपडे पहने ताकि शरीर पर हो रहे दाग में कोई परेशानी उतपन्न न हो.
  • दाग के वजह से स्किन में जलन व तकलीफ होने पर आप कैलामाइन लोशन को अपनी स्किन पर लगा सकते हैं. चेचक रोग में लाभ भी देगा.
  • चेचक के रोगी को नाख़ून नहीं काटने चाहिए व दाग फुंसी को हाथ नहीं लगाना चाहिए न ही उसको फोड़ना चाहिए. ऐसा करने से चेचक का वायरस और ज्यादा फैलता हैं व त्वचा पर फुंसी के दाग बन जाते है जो कई सालों तक नहीं जाते.
  • अगर रोगी की स्थिति जरा भी गंभीर नजर आये तो तुरंत ही डॉक्टर को दिखाए.
  • गले में दर्द या कोई तकलीफ होने पर नमक के पानी से गरारे करे
  • चेचक में नीम के पत्ते बिछाकर उसपर 1-2 घंटे तक बिना कपडे के सोये
  • नीम के पत्तों को बिस्तर के निचे बिछाकर भी रख सकते है
  • नीम के पत्तों को धुवां करने से चेचक के वायरस का प्रभाव नष्ट होता है
  • चेचक में नीम के पत्तों को पानी में उबालकर नाहना चाहिए

चेचक के रोग में इन बातों पर ध्यान दें 

  • चेचक रोग होने पर एस्पिरिन दवा न दें
  • मटर को पानी में उबालकर पिए व फुंसी पर लगाए, इससे चेचक के घाव फुंसी में आराम मिलता है
  • हाथ पैर पेट आदि पर पर विटामिन E लगाए
  • नींबू की शिकंजी ज्यादा पिए
  • तेज मसालेदार भोजन से बचे
  • नीम के पत्ते तकिये के पास रखे
  • इस पोस्ट का अगला पेज भी पड़ें, उसमे चेचक रोग में शरीर पर होने वाले दाग से छुटकारा दिलाने वाले उपायों के बारे में बताया गया है. आप उसे एक बार जरूर पड़ेंNEXT PAGE

इस तरह आप बताये गए चेचक के उपाय आयुर्वेदिक उपचार chechak treatment in Hindi के जरिये आप इससे कई हद तक बच सकते है. यह सभी नुस्खे बड़ी माता छोटी माता के उपचार के लिए बेहतरीन है. इसके अलावा संतरे का रस, नारियल का रस, नीम के पत्तों का प्रयोग आदि को जरूर करे व डॉक्टर को जरूर दिखाए.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

2 Comments

  1. Sir je Mera Ghar me checheak hogaya hai or o Pahle se epelisy ka medicine Leta hai Ab o Jada weeknes ho Gaya hai kuch khata pita n hai Kya Kare khali pet kon as medicine lega dono ki koi n hi please reply me immediately

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.