जड़ से 101% दाद खाज खुजली का असली इलाज 21 रामबाण उपाय

daad in hindi, daad khaj khujali

कृपया पूरा लेख आखिरी तक पड़ें दाद खाज खुजली का इलाज बताये क्या है और आयुर्वेदिक उपाय  यह एक अत्यंत संक्रामक रोग है, जिसमे प्रभावित स्थान पर दाने व फुंसियां पैदा हो जाती है और इनमे बहुत खुजली होती है. सर्दी गर्मी के कारण, खून की खराबी, शरीर के अंगों के अच्छे से सफाई न होना आदि

एक जगह पर दाद होने पर वह शरीर की अन्य जगह पर भी फेल जाता हैं. यहां हमरामबाण नुस्खे बताएंगे इनके जरिये आपको 101% लाभ होगा और इस तरह आप घर पर ही इससे छुटकारा पा सकेंगे.

दाद खाज खुजली के कारण

  • यह रोग सर्कोसिसटिस स्कर्बी और फुनगी नामक कीटाणु से उतपन्न होते है तथा दाद खुजली के रोगी के साथ रहे या उसके कपड़ों को प्रयोग में लाने के कारण यह रोग औरों को भी हो जाता है daad khaj khujali cure.

दाद खाज खुजली के लक्षण

यह रोग खासकर हाथ पैर कांख, मलद्वार, अंडकोषों और स्त्रियों की योनि के आस पास हो जाता है. इनमें ज्यादातर खुजली, दाद व जलन होती है तथा विशेष रूप में रात के समय कष्ट बढ़ जाता है.

त्वचा खुरदरी हो जाती हैं. यह एक तरह का चर्म रोग है और ज्यादातर शरीर के भीतरी अंगों की सफाई पर ध्यान न देने से होता है इसलिए आप सफाई पर विशेष ध्यान दें. हम यहां आपको बाबा रामदेव व राजीव दीक्षित जी के घरेलु उपाय बताएंगे कृपया लेख पूरा पड़ें remedies for daad khaj khujali treatment in Hindi with ayurveda.

दाद खाज खुजली का इलाज क्या है बताये

Daad khaj khujli Ka ilaj Bataye Kya Hai

दाद खाज खुजली का उपचार बाबा रामदेव से जाने – थोड़ी बहुत खुजली हो तो अच्छा लगता है आदमियों को “कहते है न, की या तो मजा राज में या खाज में” लेकिन यह फिर कभी कभी होतो खुजालिया ठीक से लगता है लेकिन यह खाज खुजली दाद ज्यादा हो जाये तो बहुत परेशान करती है.

तो जिनको भी दाद खाज खुजली का रोग हो वह नमक और मीठा खाना बंद कर दे, दूसरी बात एक तो नीम, दूसरा गिलोय और अलोएवेरा या खून को सांफ कर देते है. कई लोग खून साफ़ करने की कई तरह-तरह की दवाइयों के चक्कर में पड़े रहते हैं.

अलोएवेरा को तो सिर्फ खुजली पर लगा लो तुरंत ठीक कर देता है. फुंसी हो रही हो तो अलोएवेरा लगा लो 6-7 दिन में खत्म हो जाएगी और जो अलोएवेरा खाता है और शरीर पर लगता है उसकी चमड़ी ऐसी हो जाती है जैसे किसी बच्चे की चमड़ी हो.

इसके अलावा पतंजलि दिव्य कायाकल्प तेल भी मिलता है, इसको दाद खाज खुजली पर लगा लो रामबाण इलाज करेगा, दिव्य कायाकल्प वटी की गोली भी आती है इसका भी आप सेवन करो दाद खाज खुजली सब ठीक हो जाएंगी.

रोजाना दिन में दो बार भोजन करने से पहले कायाकल्प वटी की गोली पानी के साथ खाये इसको लेने के बाद एक घंटे बाद तक दूध से बने पदार्थ बिलकुल न लें. और कायाकल्प के तेल को भी नाहने के बाद व रात को सोने से पहले लगाए.

पतंजलि में नीम की गोली और गिलोय की गोली मिलती है और अलोएवेरा का रस भी मिलता है तो आप इन्हें खरीद लें और रोजाना एक गोली नीम की, एक गोली गिलोय की और आधा कप अलोएवेरा का रस इन तीनो का सेवन करना शुरू कर दें. खुजली बिकुल नहीं होगी सभी तरह के चर्मरोग से छुटकारा मिलेगा.

  1. त्वचा संबधी परेशानी में कटुज का प्रयोग बहुत ही लाभकारी है. जिनको खाज खुजली दाद की शिकायत है वे कटुज के छाल को उबालकर उसके पानी से उस ठान को धोये. इससे त्वचा सम्बन्धी सभी परेशानी व खाज खुजली में अत्यंद लाभ होता हैं.
  2. नीम का एक चम्मच आयल या नीम का जेल एक चम्मच दोनों में से जो मिल जाए उसकी एक चम्मच ले लें और एक चम्मच ही नारियल का तेल भी मिला दें. अब दोनों को अच्छे से 1 मिनट तक घोले. और आखिर में एक रुई का टुकड़ा ले और इसे इस घोल में डुबोकर अपने दाद खाज खुजली के स्थान पर लगाए इसका रोजाना प्रयोग करने से बहुत जल्दी लाभ होगा.
  3. दो चम्मच नारियल तेल ले और इसमें दो कपूर मिला दें, कपूर को बारीक़ करके मिलाये. अब दोनों को अच्छे से मिला लें अब आखिर में एक नींबू ले और उसे बिच में से काट ले अब कटे हुए नीबू के आधे हिस्से को इस घोल में डुबो दें और फिर उस नीबू को जहां पर दाद खाज खुजली हो रही हो वहां पर लगाए. नीबू के बदले आप रुई के टुकड़े का प्रयोग भी कर सकते है.

daad khujali treatment in hindi, daad treatment in hindi, daad khaj khujali treatment in hindi

  • सरसों के तेल में छोटी मात्रा में लहसुन का रस मिलाकर उसे शीशी में भरकर अच्छी तरह मिल जाने तक हिलाये और फिर इस तेल से मालिश करे, यह एक बेहतरीन खाज खुजली और दाद के घरेलु उपाय है.
  • अगर दाद खुजली पुरे शरीर में फैली हो तो चार चम्मच वैसलीन में दो चम्मच लहसुन का रस अच्छी तरह से मिलाकर हलके हाथों से सारे शरीर की मालिश करें और एक घंटे बाद गुनगुने पानी से नहा लें. साबुन का बिलकुल भी प्रयोग न करें.

दाद खाज खुजली का पक्का इलाज

  • दाद खाज की सिर में खुजली होने पर 25 ग्राम पिसा हुआ लहसुन, 50 ग्राम पानी और 100 ग्राम सरसों का तेल इन सबको मिलाकर पानी जल जाने तक गर्म करे. ठंडा हो जाने पर छानकर शीशी में भर लें. इस तेल की सिर पर मालिश करने से दाद व खाज के वजह से सिर में हो रही खुजली मिट जाती है. इसका प्रयोग पुरे शरीर में कहीं भी किया जा सकता है.
  • लहसुन को मैदे की तरह बारीक पीसकर शुद्ध शहद में मिलाकर दाद पर दिन में 3-4 बार लगाते रहने से तुरंत daad ka ilaj होता है. बहुत जल्दी ठीक होते है.
  • 25 ग्राम नीम का रस सुबह पानी में मिलाकर खाली पेट पीते रहने से रक्त साफ़ होता है और खून की खराबी से होने वाले दाद खाज खुजली मिट जाती है. इसका 8-10 दिन तक प्रयोग करे तो इस उपाय से दाद ठीक हो जाता है..
  • खुजली होने पर नीम का तेल या नीम की निबोली को पानी में पीसकर लगाए, बहुत ही फायदा करती है.
  • नीम के सूखे पत्ते जलाकर धुनि शरीर पर लगा लेने से खुजली मिट जाती है.
  • नीम की गीली लकड़ी जलाये. जलने पर इसमें से जो पानी निकले, इस पानी को लगाने से खुजली का इलाज होता हैं. इससे दाद आदि सभी ठीक होते है.
  • नीम की छाल नीम के तेल में घिसकर दाद पर लगाते रहने से दाद खाज खुजली जड़ से नष्ट हो जाती हैं.
  • नीम के पत्तों को दही में पीसकर लगाने से जड़ से ख़त्म हो जाते है.
  • खुश्क त्वचा पर सफ़ेद प्याज का रस मलते रहने से जल्द ही आराम मिलता है.
  • अगर खुश्की के साथ खारिश हो तो सफ़ेद प्याज के रस में अच्छी क्वालिटी की शराब आधा मात्रा में मिलाकर रोग ग्रस्त स्थान पर दिन में 3-4 बार मालिश करने से मात्रा 2-3 दिन में ही ठीक हो जाते है.
  • बड़ी हरड़ को सिरके में घिसकर लगाने से दाद ठीक हो जाता है, लाभ होने तक रोजाना दिन में दो तीन बार इसका प्रयोग करे.
  • नाहने के पानी में हल्दी का रस मिलाकर उस पानी से नाहन चाहिए. हल्दी का रस न हो तो एक कप पानी में 1-2 चम्मच हल्दी डालकर उसे अच्छे से तेज उबाल ले और उस एक कप पानी को नाहने के पानी में डालकर नाहये, सभी तरह के चर्म रोग में लाभ होगा त्वचा कोमल व गोरी भी होगी.
  • हल्दी को सरसों के तेल में पकाकर, उसे तेल को छानकर शरीर के खुजली वाले अंगों पर मलने से बहुत जल्दी यह सभी रोग दूर हो जाते है.
  • दाद को खुजलाकर दिन में चार बार नीबू का रस लगाने से दाद जल्दी ठीक होता है.
    पपीता का दूध लगाने से भी दाद खाज खुजली खत्म होते है
  • दाद खुजली में क्या क्या खाये – लम्बे समय तक जिमीकंद की सब्जी कहते रहने से यह सभी शरीर से हमेशा के लिए मिट जाते है, अर्थात जिमीकंद की सब्जी खाना चाहिए.

 Daad Khujli Treatment in Ayurveda in Hindi

  • दूध पीते हुए बच्चों के दाद खुजली के लिए लहसुन जलाकर इसकी राख शहद में मिलाकर लगाए.
  • मूली के बीजो को नीबू के रस में पीसकर गर्म करके लगाना लाभकारी है. इसे प्रथम दिन लगाने पर जलन व दर्द होगा. दूसरे दिन ये कष्ट कम होगा. दाद खुजली के ठीक होने पर कोई कष्ट नहीं होगा. यह प्रयोग सूखे व गीले दोनों तरह के दादों में लाभकारी है.
  • दाद, सफ़ेद दाद, फोड़े, फुंसी व कुष्ठ आदि चर्म रोगों में रोजाना बथुआ उबालकर व निचोड़कर इसका रस पिए तथा सब्जी खाये. बथुए के उबले हुए पानी दाद खाज के स्थान को भी धोये.
  • नीबू के रस में सूखे सिंघाड़े को घिसकर लगाए. इस प्रयोग से पहले तो कुछ जलन होगी, फिर ठंडक पड़ जाएगी. कुछ दिन इसे लगाए से बिलकुल ठीक हो जाता है.
  • चने के आटे की रोटी बिना नमक की 64 दिन तक खाने से यह सभी रोग और खून की खराबी से हो रहे रोग ठीक हो जाते हैं.
  • दिन में तीन बार और रात में एक बार सोते समय हल्दी का लैंप करते रहने से बिलकुल ठीक हो जाते है.
  • पांच ग्राम कालीमिर्च पीसकर आधा चम्मच गाय के घी के साथ लेने से सभी तरह की खुजली और विष का प्रभाव दूर हो जाता है. यह आसान प्रयोग रामबाण इलाज करता हैं, खाज में जरूर प्रयोग करे.
  • फुंसी उठते ही उस पर कालीमिर्च पानी में पीसकर लगाने से फुंसी बैठ जाती है. गुहेरी, बाल तोड़ व फोड़े भी ठीक हो जाते है.
  • अकौता, दाद, शोथ, खुजली और त्वचा के रोगों में लालमिर्च का तेल लगाना रामबाण उपचार करता है.
  • वर्षा ऋतू में होने वाली फुंसियां भी इस तेल को लगाने से ठीक हो जाती है. लाल मिर्च 125 ग्राम और सरसों का तेल 375 ग्राम दोनों को गर्म करे. अच्छी तरह उबलने पर छान लें. यह लालमिर्च का तेल है, यह बहुत लाभकारी है.
  • दाद पर हर घंटे नमक को पानी में मिलाकर लेप करने से एक सप्ताह में दाद खाज खुजली का उपचार हो जाता है.
  • दाद में फुंसियां होने पर गर्म पानी में अजवाइन पीसकर लैप करे. दाद के स्थान को अजवाइन को पानी में उबालकर उससे धोये अत्यंत फायदा होगा.
  • दाद खाज खुजली का इलाज में तुलसी के पत्तों का रस और नीबू का रस सामान मात्रा में मिलाकर लगाने से ठीक हो जाता है. यह प्रयोग से मुंहासे, झाइयां, कील, काले धब्बे व सभी त्वचा के सभी रोग का घरेलु इलाज करता है.

दाद और खुजली के घरेलु उपाय

  • बेर के पत्तों का रस दही में पीसकर लगाने से भी लाभ होता है.
  • पुराने दाद ख़त्म करने के उपाय  – पुराने से पुराना दाद खुजली ठीक करने के लिए पहले उसे कपडे से रगड़ लें फिर आक (सफ़ेद आंकड़े के पौधे में से निकलने वाला दूध) का दूध लगा दें. इसे लगाने से जलन बहुत होती है, लेकिन एक ही बार के प्रयोग से ठीक हो जाते है.
  • 100 ग्राम नारियल के तेल में 5 ग्राम देशी कपूर मिलाकर किसी कांच की शीशी में भर लें और कसकर पैक कर दें. हिलाने अथवा कुछ देर शीशी को धुप में रखने से तेल और कपूर मिलकर एकरस होकर घुल जायेंगे. रोजाना स्नान से पहले इस तेल की मालिश करने से सारे शरीर में उठने वाली सुखी खुजली में आराम होता है. दाद आदि चर्म विकार भी दूर होते है. सारे बदन पर खाज होने पर इस कपूर के तेल की 10 बुँदे बाल्टी भर पानी में डालकर नाहने से भी वह शांत हो जाती हैं.
  • इस तेल को रात को सोते समय दाद खुजली के स्थान पर लगाए. पट्टी की आवश्यकता नहीं है. सप्ताह अथवा कुछ दिनों में घाव भर जायेगा और पहले सफ़ेद काली आएगी. सफ़ेद खाल आने पर अकेला नारियल का तेल लगाए. अधिकतर एक महीने में त्वचा अपने असली रंग में आ जाती है.
  • त्रिफला चूर्ण के सेवन के साथ त्रिफला जल (25 ग्राम त्रिफला चूर्ण, 500 ग्राम पानी में 12 घंटे तक भिगोकर रखने पर त्रिफला जल बनता है. इस पानी से दाद खाज खुजली पर दिन में एक बार धोते रहने से सभी तरह के चर्म रोग दूर होते हैं.
  • कालीमिर्च का चूर्ण एक ग्राम, गाय का घी दस ग्राम के साथ लेने से सभी तरह की खाज खुजली दाद का असर ख़त्म होता हैं. इसे रोजाना 21 दिन तक लें. इसको लेने के बाद दो घंटे तक कुछ भी न खाये.
  • इस पोस्ट के अगले तीन पेज को भी जरूर पड़ें, इनमे और भी कई उपाय दिए है. आप एक बार इन्हे जरूर पड़ें.
  • First Page
  • Second Page
  • Third Page

daad ka ilaj, daad khujli ka ilaj, daad ka ilaj in hindi,

तो दोस्तों इस तरह आप इन treatment of daad khaj khujali ka ilaj kya hai, दाद खाज खुजली के उपाय  का इस्तेमाल कर सकते हैं. इनके प्रयोग से आपको 100% लाभ होगा अगर किसी एक दाद ठीक करने ख़त्म करने के नुस्खे  से आपको लाभ न हो तो आप दूसरे उपायों का प्रयोग करे, सभी को एक ही से आराम नहीं मिलता हैं बाकि यह सभी रामबाण उपचार है जरूर फायदा होगा.

अगर आपको यह सभी दाद से जुड़े उपाय अच्छे लगे हो तो इसे आगे बढ़ाये और सभी लोगों को शेयरिंग बटन्स के जरिये शेयर करे। और अगर आप इनका प्रयोग करते है तो नियम से करे तभी इनका असर दाद पर हो पाता है।

आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.