sir dard ke liye yoga, migraine ke liye yoga,

माइग्रेन और सिर दर्द के लिए योग है दवा – 101% छुटकारा

माइग्रेन और सिर दर्द के लिए योग जो हम आपको बताने जा रहे है वह आपको 100% लाभ देंगे व अगर आप इनको रोजाना करते है तो कुछ महीनो में आपको सिर दर्द से हमेशा के लिए चला जायेगा. यह सिर दर्द के प्रकार में माइग्रेन, साइनस और मस्तिष्क से जुड़े सभी रोगो में फायदा करेंगे व आपके मन को भी शांत करेंगे.

ज्यादातर अंग्रेजी दवा का प्रयोग करते है लेकिन वह असर भी करती है तो कुछ समय के लिए और फिर से सिर में दर्द पैदा हो जाता है वह इसका जड़ से इलाज नहीं करती, लेकिन योगासन उसका जड़ से ख़त्म करता है.

दोस्तों सिर दर्द होना आज के समय में एक आम समस्या हो गई है जो की हर दूसरे तीसरे व्यक्ति को होती है. किसी भी बारे में ज्यादा सोच विचार करना, किसी बारे में चिंतित रहना, तनाव में रहना, दिन भर काम करना सही आहार नहीं लेने से, शरीर में ताज़ा ऑक्सीजन के न पहुंचने से आदि के कारण से यह दर्द पैदा होता है.

लेकिन हम जो योगासन बता रहे है अगर आप उनको रोजाना करते है तो आप चाहे जितना काम करो, जितना चाहे सोचो, जितनी चाहे चिंता लो लेकिन फिर भी आपका सर नहीं दुखेगा sar dard headache yoga in Hindi.

sir dard ke liye yoga, sir dard ki dawa, migraine ke liye yoga, माइग्रेन के लिए योग

इन योगासन को भी रोजाना करे व हमने पिछले लेख में आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे व उपाय बताये थे उनको भी आप करे तो बहुत जल्दी ही लाभ मिलेगा आप उस लेख को भी जरूर ही पड़ें. उस लेख का पता हमने निचे आखिर में दे रखा है इसे पूरा पढ़ ले फिर उसे भी जरूर ही पड़ें.

ब्रह्मारी प्राणायाम करे 

  • रोजाना सुबह के समय और रात को सोने से पहले 5-10 मिनट ब्रह्मारी प्राणायाम करे, यह प्राणायाम आपके सारे तनाव, चिंता आदि को बिलकुल शांत कर देगा व पुरे मस्तिष्क सिर को शांति देगा जिससे तुरंत लाभ होगा. इसको आप दिन में जब भी सिर में दर्द हो तब भी कर सकते हैं. इसको करने की विधि भी बहुत ही आसान है. माइग्रेन जैसे रोग में तो यह बहुत ही शांति देता है, और तनाव से पैदा होने वाले सिर दर्द को भी तुरंत मिटाता है.
  • अपने दोनों हाथों के अंगूठों से कानो के छिद्र को दबा दें ताकि बाहर की आवाज आप सुन न पाए अब आंखें बंद कर लें और अब आखिर में अंदर से ऐसी आवाज़ निकाले जैसे मधुमक्खी के भिनभिनाने की आवाज़ होती है “गुंजन” MMMMMMMM सिर ममममम की आवाज़ निकाले सां लें और आवाज़ निकाले. इस तरह रोजाना सुबह और रात को सोने से पहले कर सकते है और जब भी सिर में दर्द हो तब भी इसे कर सकते है. माइग्रेन के रोगी और तनाव में सिर दर्द के व्यक्ति इसे जरूर करे.

अनुम विलोमा प्राणायाम करे 

  • यह प्राणायाम मस्तिष्क व नाड़ियों की शुद्धि करता है जिससे सिर दर्द में बहुत ही लाभ होता है. यह माइग्रेन, साइनस आदि में भी फायदा देता है. अगर आप महीने भर रोजाना सुबह के समय शुद्ध हवा में यह प्राणायाम करते है तो मात्र 30 दिन में ही आपका सिर दर्द छूमंतर हो जायेगा.
  • सीधे बैठ जाए अपनी Right nose के छिद्र को उंगली की मदद से बंद कर दें और नाक के दूसरे छिद्र Left nose से सांस को अंदर लें और उस छिद्र को भी बंद कर दे.
  • अब थोड़ी देर सांस को रोके व जब दम घुटने लगे तो जिस Right nose के छिद्र को खोलकर पूरी सांस को बाहर निकाल दें अब वापस Right Nose से सांस अंदर ले और उसे बंद कर दें फिर जब छोड़ना हो तो Left nose से बाहर निकाल दें इस तरह 10 मिनट रोजाना सुबह करे. यह माइग्रेन के लिए योग में बहुत असरकारी है साथ ही सिरदर्द में भी रामबाण होता है.

मस्तिष्क में रक्तसंचार बढ़ाने के लिए

sir dard ki exercise

  • अपने सिर के पीछे कान के नजदीक गले की जो नसें ऊपर की और मस्तिष्क में जा रही है इन पर बादाम तेल, भृंगराज तेल आदि के जरिये 2-3 मिनट मालिश करे, ऐसा आप रोजाना नाहने के बाद सिर में तेल व कंगी करते वक्त कर सकते है.
  • यह एक्सरसाइज मस्तिष्क में रक्त संचार को बढाती है व सिर दर्द को रोकती है. इसे आप दिन में बिना तेल के भी कभी भी कर सकते है, लेकिन सुबह 3-4 मिनट तेल लगाकर जरूर करे.

सांसों पर ध्यान करे

  • रोजाना सुबह बताये गए प्राणायाम करने के बाद 5-10 मिनट के लिए ध्यान करे, ध्यान में आपको करना कुछ नहीं है. सीधे बैठ जाए अपनी आंखों को बंद कर लें और अपनी आती जाती सांस को देखें, बस सांसों पर ध्यान दें. इससे होगा यह की आप आपका मन शांत होगा व अगर आप तनाव से भरा काम करते है तो उसमे यह बहुत मदद करेगा. सिर दर्द के लिए योग में ध्यान को जरूर जोड़ें यह माइग्रेन में भी लाभ करता है.

जल नेति 

  • हम रोजाना जो सांस लेते है उसमे कई सूक्ष्म पदार्थ हमारी नाक के छिद्रो में आते है व वो वहीँ पर ठहर भी जाते है यह नाक में गंदगी को बढ़ाते है जिससे साइनस रोग भी होता है, मीग्रैन और सिर दर्द भी होता है. नाक की सफाई के लिए हम निचे जो योगिक उपाय दे रहे है यह पूरी नाक को साफ़ कर देता है जिससे साइनस व सिर दर्द के रोगियों को पूर्ण आराम मिलता हैं.

  • जल नेति पंचकर्मा की एक क्रिया है, जो की शुरुआत में कठिन व एक दो बार कर लेने के बाद बहुत ही आसान लगती है. इसमें हम नमक के गुनगुने पानी को एक जलनीति की बोतल, मग में डालकर नाक के एक छिद्र में पानी डालते है व दूसरे छिद्र से पानी निकालते है. यह बहुत ही आसान है बस आपको एक छिद्र में पानी डालना है व अपने आप ही दूसरी नाक से निकल जायेगा (इसके लिए आप YOUTUBE पर वीडियो देख सकते है Jalneti लिख कर).
  • सावधानी पानी ज्यादा गर्म भी न रखे और न ज्यादा ठंडा रखे और पानी में नमक जरूर मिला होना चाहिए, बिना नमक के इस पानी को नाक में डालने से जलन होती है. इसे आप शुरुआत में 15-20 दिन रोजाना करे व फिर एक सप्ताह में 2-3 कर सकते है.

बालसाना योग 

  • जब भी आपको सिर दर्द होने लगे व आप घर पर हो तो आप सबसे पहले ब्रह्मारी प्राणायाम करे और कान के पीछे की नसों पर थोड़ी सी मालिश करे बिना तेल के ही वैसे तेल से करेंगे तो ज्यादा अच्छा रहेगा लेकिन बिना तेल के भी काम चल जायेगा. इसके बाद बालसाना जिसे इंग्लिश में Child Pose कहते है उसमे बैठना है. यह योगासन आपको मानसिक शांति देगा व पुरे शरीर को आराम देगा इसको 10-15 मिनट करने से ही आपको बहुत लाभ होगा.
  • अपने घुटनो को मोड़कर बैठ जाये अब अपने सिर को आगे की ओर झुकाते हुए जमीन से टच कर दें. हाथों को पीछे की ओर कर लें व धीमी गहरी सांस लेते रहे व अपनी सांस को आते और जाते देखें कोई सोच विचार न करे बस सांस को देखें.

ॐ का उच्चारण – माइग्रेन और सिर दर्द की दवा

सिर दर्द की दवा है ॐ – अगर आप भगवान आदि की पूजा करते है ॐ तो सिर्फ 5 मिनट के लिए रोजाना ॐ का उच्चारण जरूर करियेगा. यह ॐ का उच्चारण बड़ा अद्भुत होता है आप जब पहली बार करेंगे तो आपको ही असर दिख जायेगा. बाकी आप इसे सुबह के योग और प्राणायाम के साथ भी कर सकते है.  ॐ का उच्चारण सिर दर्द जो की किसी टेंशन से हो रहा हो उसे तुरंत ही ख़त्म कर मानसिक शांति देता है माइग्रेन से पीड़ित रोगी को भी इसका सहारा लेना चाहिए.

अगर आप इनको रोजाना एक महीने भी करते है तो आपको 101% लाभ होगा व सिर दर्द से हमेशा के लिए छुट्टी मिलेगी. हमने जो ऊपर योग प्राणायाम बताये है यह 20-25 मिनट सुबह के लेते है बस और बदले में आपको ढेर सारे रोगों से बचाते है जैसे हार्ट अटैक, शुगर, सिर दर्द, मस्तिष के रोग, पेट दर्द व अन्य घातक रोग.

इसके अलावा अपने शारीरिक सरंचना को बनाये रखने के लिए व पुरे शरीर में अच्छे से खून को पहुँचाने के लिए खासकर कर मस्तिष्क में खून के बहाव को तेज करने के लिए निचे दिए जा रहे योगासन भी करे. यह माइग्रेन और सिर दर्द दोनों के लिए जरुरी है.

  • Hastapadasana
  • Setu Bandhasana
  • Marjariasana
  • Paschimottanasana
  • Adho Mukha Svanasana
  • Surya Namaskar

sir dard ke liye yoga

तो दोस्तों ब्रह्मारी प्राणायाम, अनुम विलोमा प्रणयामा, जलनीति, कान के पीछे की नसों पर मालिश, ॐ का उच्चारण, ध्यान और बालसाना इनको आप करे और अगर आपको फिर भी आराम न मिले तो हमे निचे Comment के जरिये जरूर बताये.

यह दवा से भी ज्यादा असर करते है इसलिए आप इनको रोजाना जरूर करे. सिर दर्द माइग्रेन के लिए योग प्राणायाम yoga for headache in Hindi को रोजाना करते रहे. इनसे आपको कई शारीरिक और मानसिक लाभ होंगे, मानसिक शांति भी मिलेगी.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

2 Comments

  1. मै 10 dino se kar raha हूँ. 2 time सुबह aur sham. कुछ to आराम hai lagbhag 10%. Magar mai sirph anulom vilom aur kapal bhati karta हु. सर दर्द se मै बहुत परेसान हूं. एक बात aur साथ मे normal bukhar bhi रहता है. 1 point 2 bache point. Aur ye problem 10 o clock ke बाद hota hai.mujhe आपका help chahiye. Aur hame आपका जवाब का इंतजार rahega.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.