kaan ka bahna, kaan behne ke karan, kaan behne ke lakshan

फटाफट करे कान बहने का उपचार 10 उपाय और दवा

कान बहने का इलाज और दवा आप जानेंगे ऐसे उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे जिनके जरिये आप इस रोग से बचाव कर सकते है. शुरुआत में ज्यादातर रोगी अंग्रेजी दवा लेते है, लेकिन इसके प्रयोग से भी कई बार आराम नहीं मिलता व आराम तभी तक रहता है जब तक दवाई लेते रहे. इससे कई रोगी बेहद परेशान रहते हैं.

इसके लिए आप यहां बताये जा रहे कान में मवाद आने का इलाज को आजमा सकते है, इन उपायों के जरिये आप इसे हमेशा के लिए रोक सकते हैं. तो आइये आगे पढ़ते है.

कान बहने के कारण

लक्षण

  • कान में भारीपन, शूल, कान में सूजन आना, आवाजे आना, पर्दा फट जाना, कम सुनाई देना व भारी-भारी सा लगना, तरल पदार्थ निकलना आदि कान बहने के लक्षण होते हैं जो की बड़ी आसानी से पहचाने जा सकते हैं.

kaan bahne ka ilaj, kaan ka bahna

कान बहने का उपचार और उपाय

Kaan Behna Ka ilaj Bataye

1. पतंजलि की दवा का नाम  “सारिवादी बटी” कान के हर रोग के लिए बहुत ही फायदेमंद होती हैं, रोजाना भोजन करने के बाद में दूध के साथ दोनों समय एक एक गोली इसकी खाये. इससे कान बहना, दर्द, मवाद आदि सभी में आराम मिलता हैं. कान बहने पर यह दवा जरूर ले.

2. कान बहने पर आप नीम और शहद का प्रयोग भी करे, यह सबसे आसान और सरल सा प्रयोग है. एक चम्मच शहद में एक चम्मच नीम का तेल मिलाकर अच्छे से मिला लें. फिर एक रुई को इस मिश्रण में भिगोकर कानो में इस रुई को लगा दें. इस तरह यह उपाय कानों में मवाद आने से बचाता है व कान बहने से भी रोकता है.

3. तिल के तेल में 4-5 लहसुन की कलिया छीलकर तब तक पकाये जब तक की वह कलियाँ काली न पढ़ जाए, फिर इसमें से लहसुन को निकालकर तेल को एक डिब्बी में भर लें.

(कान बहने पर इस नुस्खे को बहुत पहले से किया जाता आ रहा है) अब रोजाना 2-2 कान में डाले व फिर 2-3 घंटे बाद कान में रुई लगाले व इस मिश्रण को बाहर निकाल दें इस तरह दिन में दो बार कानो में इस मिश्रण को डालने से बड़ों व शिशु का कान बहना और मवाद निकलना बंद हो जाता है. यह कान बहने की दवा से कम असरकारी नहीं बहुत लाभप्रद है.

अगर इस ऊपर दिए गए उपाय से आपको आराम न हो तो आप तेल की जगह गाय के घी का प्रयोग भी करे. 100 ग्राम गाय के घी में 4-5 लहसुन डालकर पकाये व फिर ऊपर बताये गई विधि अनुसार कान बहने पर इसका प्रयोग करे.

4. प्याज का प्रयोग भी कर सकते है. इसके लिए सबसे पहले रुई की मदद से कान की मवाद को साफ़ कर लें, इसके बाद प्याज के रस की 3-4 बून्द कान में डाले और वैसे ही लेटे रहे फिर बाद में खड़े होते वक्त कान में रुई लगा लें इस तरह सप्ताह भर तक इस घरेलु नुस्खे को आजमाते रहे.

5. कान से पानी निकलना आदि को रोकने के लिए खुद के पेशाब की 3-4 बून्द कान में डाले और फिर कान में रुई लगा लें. इस तरह रोजाना के प्रयोग से चंद दिनों में मवाद यानि कान बहना बंद हो जाता हैं.

यह प्रयोग आपको घिनोना लग सकता है लेकिन यह एक चमत्कारी प्रयोग है व घरेलु इलाज में आप इसे आप जरूर करके देखें. कान बहने का इलाज करने के उपाय में आप इस खुद के पेशाब का इस्तेमाल जरूर करे.kaan ke parde ka photo, kaan ka photo, kaan ka parda pic

6. अचानक दर्द होता हो तो खुद के पेशाब की 3-4 बून्द डाले तुरंत ही दर्द ख़त्म हो जायेगा साथ ही कान बहने से भी यह रोकेगा..

7. नीबू के 240 ग्राम रस में 60 ग्राम सरसों या तिल का तेल मिलाकर उबालें. पकते-पकते नीबू का रस चटपट-चटपट जलेगा. जब नीबू का रस जल जाएगा तोह सिर्फ तेल ही बचेगा क्योंकि रस पानी की आवाज बंद हो जाएगी. उसे उतारकर छान लें और बोत्तल में भर लें. इसकी 2-2 बूंदे Kaan में डालते रहने से कान का पीव खुजली और कान का दर्द आदि ख़त्म होते हैं.

8. रोजाना सुबह और शाम को पानी में 1-2 नीबू काटकर डाले और पिए तो इससे 100% लाभ मिलेगा.

9. छोटी हरड़ 12 ग्राम, अजवाइन 22 ग्राम, सौंफ 22 ग्राम, मेथी के बीज 22 ग्राम, काला नमक 22 ग्राम लें और इन सभी चीजों को बारीक-बारीक पीस लें और पाउडर जैसा बना लें चूर्ण की तरह. अब रोजाना एक चम्मच इस चूर्ण को गर्म पानी में मिलाकर दिन में तीन बार इसका सेवन करे. यह कान बहने का उपचार बहुत अच्छे से करता है.

10. हरी घास जिसे दुब भी कहते है इसको अच्छे से पीसकर रस निकाल लें व इस रस की 2-3 बूंदे कानों में डाले तो इस छोटे से प्रयोग से मवाद ख़त्म हो जायेगा.

कान बहने का उपचार, कान बहने का इलाज, कान बहने की दवा

घर पर ही आप कान बहने की दवा इलाज kaan behna ka ilaj in Hindi को आजमाकर मवाद आदि से छुटकारा पा सकते है. यह नुस्खे किसी भी अंग्रेजी दवा से ज्यादा प्रभावकारी होते है अगर इनका सही से प्रयोग किया जाए तो. खुद के पेशाब का जो प्रयोग हमने दिया है उसे जरूर करके देखें. कान बहना को ठीक करने में ज्यादा समय नहीं लेना चाहिए जल्द से जल्द इसको रोकने के लिए उपाय करने चाहिए ताकि कोई और समस्या पैदा न हो.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

4 Comments

  1. Kaan se kam sunanai deta hai main is bimari se bahut jada peresaan houn pelise help me ye mera no 9758142743 koi dava hai coll me

  2. sir
    Mera Naam Rakesh hai aur mere Kaan se 2 mahino se pani aur safed kachara nikalta hai Dr. ne drop bhai diya lekin aaram nahi mila
    please sir koi achcha upachar bataye

  3. कान से कम सुनाई दे रहा है ,इसके उपचार के अच्छी से अच्छी दवा बताये?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.