khatti dakar treatment in hindi, khatti dakar home remedy, khatti dakar home remedy in hindi, khatti dakar aana

99% खट्टी डकार आने से रोकने के उपाय, जड़ से इलाज करे

खट्टी डकार का इलाज और घरेलु नुस्खे यह आपके दोस्तों व अन्य रिश्तेदारों के सामने शर्मिंदा कर सकती है, क्योंकि हमारी समाज में बार बार डकार आने को गलत व असभ्य समझा जाता हैं, लेकिन यह एक प्राकृतिक प्रकिया है जिसे रोकना व दबाना नहीं चाहिए.

हम यहां आपको इसी बारे में घरेलु उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे बताएंगे इनके जरिये आप घर पर ही इस समस्या से छुटकारा पा सकते है. चलिए आगे इसी समस्या से छुटकारा पाने के के तरीको के बारे में पड़ते है.

बार बार डकार क्यों आती है

खट्टी डकार का इलाज क्या है बताए

Khatti Dakar ka ilaj batao kya hai

khatti dakar treatment in hindi, khatti dakar aana,

  • खाना खाने के बाद एक छोटा सा टुकड़ा गूढ़ का खाने से खट्टी डकार आना बंद हो जाती है व खाना भी इससे जल्दी पचता है. क्योंकि गूढ़ में खाना जल्दी पचाने वाले कई गुण होते हैं.
  • ठंडा दूध पिने से भी तुरंत डकार आना बंद हो जाती है, यह खट्टी डकार का घरेलु उपाय एसिडिटी पेट व सीने में जलन होने पर भी प्रयोग में लाया जा सकता है. जैसे डकारे आये फ्रिज या ठंडी जगह पर रखा हुआ पानी पि लें यह तुरंत रामबाण उपचार करेगा.
  • दिन के भोजन में रोजाना नियमित रूप से एक कप दही खाना शुरू करे, यह बदहजमी का इलाज करता है, भूख खोलता है, उपचार करता है व एसिडिटी कब्ज से भी बचाता है, पेट में ठंडाई करता है आदि पेट के सभी रोगों khatti dakar aana में एक कप भोजन के बाद दही खाने से रामबाण लाभ होता है.
  • डकारे अधिक आती हो, तो बाजरे के दाने के बराबर हींग ले और इसे गूढ़ या केले में रखकर खाये, यह घरेलु इलाज में रामबाण काम करती हैं. यह प्रयोग हिचकी आने पर भी किया जा सकता हैं.
  • जीरा तवे पर भूनकर और पीसकर एक चम्मच भर एक चम्मच शहद में मिलाकर चाटें इससे भी खट्टी डकारे आने से रूकती हैं, इस होम रेमेडी में आप काले जीरे का प्रयोग भी कर सकते हैं.
  • भूख न लगे, अजीर्ण हो अथवा खट्टी डकारे आती हो, तो एक नीबू आधा ग्लास पानी में निचोड़कर शक़्कर मिलाकर रोजाना पिए, अथवा एक चम्मच अदरक का रस, नीबू और सेंधा नमक एक ग्लास पानी में मिलाकर पिए, खट्टी डकार आने से रोकने में कारगर होगा.
  • भोजन करने के बाद जहरी नारियल की गिरी खाने से खट्टी डकारे आना बिलकुल बंद हो जाती हैं.
  • पोदीना और इमली पीसके उसमे सेंधा नमक या शहद मिलाकर खाने से भी खट्टी डकारों और उलटी जैसा जी होना बंद हो जाता हैं.
  • छाछ यानी मठ्ठा भी बेहतरीन उपाय है, एक गिलास छाछ सुबह के समय पिने से भी अत्यंत लाभ होता हैं. अगर आप दही का सेवन नहीं कर सकते तो छाछ का उसकी जगह उपयोग कर सकते हैं. छाछ और दही को पुराने लोग भोजन के साथ में रोजाना सेवन करते है, यह खट्टी डकार (आना) का इलाज तो करती ही थी इसके साथ ही अन्य कई फायदे भी देती थी.
  • काला जीरा भी खट्टी डकार रोकने का उपाय है, आप काले जीरे को सलाद में मिलाकर खाये, इसका सेवन भोजन के दौरान अवश्य करे. इसके अलावा खाना खाने से पहले जरा सा काला जीरे के दाने चबाकर खाने से भी लाभ होता हैं.

खट्टी डकार रोकने के उपाय बताइये

  • खट्टी डकार में अदरक के टुकड़ो में शहद डालकर चबाने से भी  डकार आना बंद हो जाती हैं, इसके लिए अदरक के बारी टुकड़े करके शहद के साथ खाये ताकि आपकी यह ज्यादा बेस्वादु न लगे, अदरक का प्रयोग खट्टी डकार ट्रीटमेंट में सर्वश्रेष्ठ है.

khatti dakar ke gharelu upay, khatti dakar ka ilaj, khatti dakar aana

  • एक गिलास पानी में एक नीबू का रस मिलाये फिर इसमें चौथाई चम्मच बेकिंग सोडा भी मिलाये. अब इन्हे अच्छे से घोल कर पि जाए.
  • आपको जब भी खट्टी या सामान्य डकारे आये तो इस उपाय को करिये, यह तुरंत रहत देने वाला खट्टी डकार के घरेलु नुस्खे में से एक हैं.
  • रोजाना सुबह उठने के तुरंत बाद 2-3 गिलास पेट भरकर पानी पिने से एसिडिटी, बदहजमी, डकार आना आदि के रोग नहीं होते. इसलिए अगली सुबह से ही उठने के बाद तुरंत पानी पीना शुरू करे.
  • हिचकी व खट्टी डकार को तुरंत रोकने के लिए यह उपाय भी बहुत लाभ करता हैं. सौंफ का रस, सौंफ का रस नहीं होने पर सौफ को बारीक़ पीस लें व गुलाबजल में घोल लें. अच्छे से घोलकर सौंफ व शहद के मिश्रण का सेवन करने से तुरंत लाभ होता है.
  • रोजाना भोजन करने के बाद सौंफ व मिश्री खाये, इसके अलावा छोटा सा टुकड़ा गूढ़ का भी खा सकते हैं. यह दोनों ही पाचन व डकारों में अत्यंत लाभ करते हैं.
  • इलाइची की चाय पिने से भी खट्टी डकार आना तुरंत रुक जाती हैं. इसके अलावा पुदीना की चाय पिने से भी फायदा होता हैं.
  • भोजन में धनिया डालकर खाने से डकार उतपन्न नहीं होती हैं, बेहतर परिणाम के लिए धनियो की पत्तियों को सब्जी में डालकर जरूर खाये व छाछ मठ्ठा में भी धनिया और काला जीरा मिलाकर पिए तुरंत आराम होगा.
  • खट्टी डकार आना और लौंग :- लौंग को मुंह में रख कर चूसते रहने से भी डकारे नहीं आती
  • पपीता खाने से भी डकारे नहीं आती हैं, इसके लिए भोजन के बाद पपीता खाये व दिन में भी पपीता का सेवन करे.
  • भोजन करने से पहले यदि अदरक के टुकड़े या अदरक के पाउडर को खाया जाए तो इससे भोजन करने के बाद डकारे नहीं आती, यह खट्टी डकार के उपचार में सबसे प्रसिद्द नुस्खा हैं.
  • सौंफ और अजवाइन को चबाकर खाने से भी डकारे आए बंद हो जाती हैं.
  • रोजाना सुबह के समय खाली पेट एक लहसुन की कली निगलने से बदहजमी, अपच, अग्निमांध और खट्टी डकारे आना बाद हो जाती हैं.
  • एक गिलास पानी में एक चम्मच काले जीरे को बारीक़ पीसकर डाले व इसके सेवन करे इस घरेलु नुस्खे से भी बार बार डकार आना रुक जाती हैं.
  • खट्टी डकार आने से रोकने के लिए भोजन करने के बाद एक सेब खाने से भी बहुत राहत मिलती है.
  • भोजन करते वक्त बार बार पानी न पिए और भोजन बिलकुल आराम से करे, डकारे भोजन के साथ हवा को निगलने के वजह से आती हैं. इसलिए आप हर एक कौर को बिलकुल बारीक़-बारीक़ चबाकर खाये, इससे पाचन भी अच्छा होगा व डकार आने जैसी परेशानी भी उतपन्न नहीं होगी.
  • इसके अलावा खट्टी डकार का इलाज में भोजन करते वक्त मुंह को बंद ही रखना चाहिए ताकि मुंह में हवा प्रवेश न कर पाए. अक्सर हम भोजन करते वक्त बात करते जाते हैं ऐसे में मुंह में हवा जाने के चान्सेस ज्यादा बनते है और फिर खट्टी डकारे पैदा होती हैं. इसलिए हमेशा कौर को मुंह में रखने के बाद मुंह बंद ही रखे.

खट्टी डकार आने से रोकने के लिए क्या करे क्या न करे

  1. ताली गली चीजों का ज्यादा सेवन न करे
  2. फ़ास्ट फूड्स भी कम ही खाये
  3. खाना खाते वक्त बार बार पानी न पिए
  4. भोजन के बाद गूढ़ अवश्य खाये
  5. भोजन के बाद सौंफ और मिश्री भी खाये यह भी रोकती है
  6. अदरक के टुकड़े में शहद लगाकर खाये
  7. पपीता का सेवन व पपीता के पत्तों का रस पिए
  8. भोजन के साथ सलाद में काला जीरा डालकर जरूर खाये
  9. नीबू का रस अवश्य पिए
  10. धनिया की पत्तियां सब्जी में अवश्य डाले
  11. दिन के भोजन में दही जरूर ले
  12. छाछ में दही और काला जीरा मिलाकर रोजाना सुबह पिए, घरेलु इलाज में यह उपाय भी उपयोगी है.

पेट के रोगो से बचने के लिए रोजाना सुबह खाली पेट पेट भरकर पानी पिए, यह डकार, एसिडिटी, पेट में जलन, पेट दर्द, छाले आदि पेट के सभी रोगों में रामबाण घरेलु उपाय की तरह काम आता हैं. और अगर आप ताम्बे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीते हैं तो यह आपको और भी कई ज्यादा लाभ करेगा.

इसके अलावा आप अदरक, काला जीरा, नीबू पानी, लौंग, सौंफ मिश्री, दही छाछ का अवश्य रोजाना सेवन करे यह सबसे बेस्ट हैं, अगर आप इनका सेवन करते है तो आपको कभी पेट के रोग होंगे ही नहीं.

इस तरह आप खट्टी डकार आना के उपाय, khatti dakar ka ilaj kya hai के सेवन से यह बिलकुल बंद हो जाएंगी. इन घरेलु नुस्खे को आप घर पर ही बिना किसी तकलीफ के बनाकर प्रयोग में ला सकते हैं, यह बाजार की अंग्रेजी दवा से भी ज्यादा असर करेंगे और किसी तरह का नुकसान भी नहीं देंगे.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

2 Comments

  1. aap upar btaye gaye upayo par dhyan dein, rojana subah khali pet tambe ke bartan me rakha hua paani piye or iske 30-40 minute baad tk kuch bhi na khaaye piye.

  2. Mujhe baar baar khatti Dakar ati hI aur msra digestive system bahut zyada week h batiye m kya kRo

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.