110% पागल कुत्ते के काटने पर एक दिन में इलाज और दवा

पागल कुत्ता काटने का इलाज बताएं और इस की दवा रेबीज एक वायरस होता है जो की पागल कुत्ते, बिल्ली, भेड़िये, लोमड़ी आदि के काट लेने से किसी भी व्यक्ति के शरीर में फेल सकता हैं.

इससे भारत में हर साल कई हजारों लाखों लोगों की मौते होती आ रही हैं. कई लोग पागल कुत्ते के काटने पर उसे मामूली समझ कर छोड़ देते है और इलाज नहीं करवाते जिससे वह वायरस पुरे शरीर में फेल जाता है. आज हम इसी बारे में लक्षण और ट्रीटमेंट के बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे.

वैसे आज की बात की जाए तो सरकारी अस्पतालों में अब उपचार काफी कम दाम या यूं कहे मुफ्त में कर दिया हैं, लेकिन इनके जो इंजेक्शन लगते हैं वह काफी दर्द-भरे होते है और दूसरी बात यह है की हर किसी कुत्ते के काट लेने से रेबीज नहीं होता, यह तो लोगों ने वहम भर दिया है जिसकी वजह से हर कोई साधारण कुत्ते के काटने पर भी प्राथमिक उपचार करवाता हैं.

राजीव दीक्षित जी : उनके द्वारा बताया गए उपाय इतने आसान हैं की इसमें आपको किसी तरह के इंजेक्शन को लगवाने की जरूरत नहीं पड़ती आगे पढ़िए उनके द्वारा कही गई बात –

पोस्ट को पूरा निचे तक ध्यान से पड़ें. जरुरी बाते बताई है.

कुत्ता काटने का इलाज, कुत्ते के काटने का इलाज, rabies in hindi, rabies treatment in hindi

पागल कुत्ता काटने का इलाज बताएं

रेबीज का इलाज क्या है

कभी भी किसी को कुत्ते ने काट लिया हो यह आज सामान्य बात हो गई हैं, वो कुत्ता पागल रहे या पागल न रहे, वो चाहे घरेलु न हो, लेकिन मन में उसके काटने से डर जरूर बैठा रहता हैं.

हालांकि ऐसा हैं की जो कुत्ता दिन रात घर में रहता है उसके काट लेने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि वो वही खाता है जो आप खाते है इसलिए साधारण किसी घरेलु कुत्ते के काट लेने पर कोई खतरा नहीं रहता लेकिन फिर भी लोगों के मन में डर बना रहता है की चाहे कैसा भी कुत्ता उन्हें काट ले वह डॉक्टर के पास जाकर टिके जरूर लगवाएंगे.

ऐसे में डॉक्टर 16 टिके लगाता है, एक महीने के अंतराल में यह कुत्ता काटने का टिके इंजेक्शन बहुत दर्द करते है इसमें पैसे भी बहुत खर्च हो जाते हैं ऐसे में में आपको ऐसा सरल घरेलु इलाज दवा बताता हु जिसके सेवन से आप रेबीज होने से रोक सकते हैं.

यह सिर्फ पांच रुपए की होती हैं, इसको लेकर के घर में प्राथमिक उपचार के तौर पर रखना चाहिए. इस दवा का नाम है hydrophobinum 200, यह 200 इसकी पोटेंसी हैं और यह होमियोपैथी की दवा हैं, इसे आप होमियोपैथी की दुकान पर से आसानी से खरीद सकते हैं.

इस दवा का सेवन 5ML की खुराक में करना होता हैं. कुत्ता या कोई भी जानवर काटे तो आप इस hydrophobinum 200 (homeopathy for rabies) का प्रयोग अवश्य करे अगर आपको भरोसा न हो तो आप होमियोपैथी चिकित्सक या दुकानदार से इस बारे सलाह ले सकते है.

यह सब भी एक बार जरूर पड़ें :

याद रखे इस दवा को फ्रिज में बिलकुल भी न रखे और ना ही धुप में रखे, घर में ऐसे स्थान पर रखे जहां पर छाव हो और सामान्य तापमान हो. कुत्ता के काट लेने से रोगी को बहुत परेशान है काटे हुए स्थान से बहुत खून बह रहा है तो आधे-आधे घंटे के अंतराल में इस दवा को रोगी की जीभ पर तीन बार डालें.

इसके बाद आप भूल जाइये, इस दवा के प्रयोग से जिंदगी भर ऐसी कोई सम्भावना नहीं आएगी की उस रोगी को रेबीज रोग हो इतनी असरकारी है यह दवा घरेलु उपाय (दवा के लेने के बाद व पहले कुछ भी न खाये).

इस दवा का बस नियम यही हैं की कुत्ता काट लेने के बाद जितने जल्दी इस दवा को रोगी को दे दें उतने ही जल्दी उसके ठीक होने की संभावना रहती हैं, आपको अभी कुत्ते न काटा तो अभी दवा ले लीजिये बस जितने जल्दी हो सके उतनी जल्दी करे.

देर होने पर भी दवा लेनी है ऐसा नहीं की आपको कुत्ता काटे चार-पांच दिन हो गया हो तो आप दवा न ले, कुत्ता काट लेने के ज्यादा दिन हो जाने पर आप इस दवा को एक दिन में तीन बार सुबह, दुपहर और शाम इस तरह आधे-आधे घंटे की गैप के बजाये इतनी देर में लें.

अगर बच्चों को कुत्ते बिल्ली न काटा है तो इस दवा की सिर्फ एक बूंद ही बच्चे को दें. बच्चों के लिए आप एक कप में आधे कप से कम पानी भर लें और इसमें दवा की एक बूंद डाल दें अब आपको तीन बार में एक डेढ़ चम्मच बच्चे को यह कप का पानी देना है आधे-आधे घंटे के अंतराल में.

rabies treatment in hindi, homeopathy medicine for rabies

Dog bite – जैसे ही आपको कुत्ता काट ले तो आप काटे हुए स्थान को साफ़ पानी से धोये अगर आपके पास हाइड्रोजन है तो उससे भी धो लीजिये और अगर हाइड्रोजन नहीं हैं तो पानी से ढोले और ऊपर से उस स्थान पर हल्दी लगा दीजिये.

कई लोगों साबुन लगाने की सलाह देते हैं जो की बिलकुल ही गलत है, साबुन लगाने पर उस स्थान पर घाव बन सकता हैं इसलिए आप हल्दी लीजिये और काटे हुए स्थान पर लगा दीजिये इसके बाद बताई गई होमियोपैथी की दवा मंगवाइये और इसको आधे-आधे घंटे की गैप में ले लीजिये, इस तरह आप घरेलु कुत्ता काटने का इलाज कर सकते है.

Kutta katne ka ilaj kya hai ?

कुत्ते के काटने पर क्या करे इस तरह काटे हुए स्थान को तुरंत धो लेने से आधे कीटाणु वहीं नष्ट हो जाते हैं. इसलिए किसी भी तरह की चोंट लगने पर साफ़ पानी या हाइड्रोजन से धो लेना चाहिए और ऊपर से घाव में हल्दी लगा देना चाहिए. एक बात और याद रख जानवर के काट लेने के बाद घाव को खुला छोड़कर ही रखे, उसे हवा लगने दें.

पागल कुत्ते की पहचान

  • पागल कुत्ता हिंसक होता है, उसकी आंखें लाल हो जाती हैं, वह कुत्ता बेचैन रहता है और एक जगह पर नहीं टिकता. वह कुत्ता किसी भी व्यक्ति के पीछे लग जाता है. पागल कुत्ते के लक्षण भी लगभग वही होते है जो की पागल इंसान के होते हैं. उन्हें अपना कोई ठिकाना नहीं रहता वह बेचैन होकर भागते फिरते है, कुछ खाते पीते नहीं किसी पर भी भोंकने लगते हैं आदि. यही पागल कुत्ता, सियार, भेड़िया पालतू कुत्ता, जंगली कुत्ता सभी तरह के कुत्ता में ऐसे ही लक्षण नजर आते है.

रेबीज के लक्षण

  • सिर में दर्द
  • कमजोरी
  • शोर और प्रकाश से जी घबराना
  • बुखार

गंभीर लक्षण

  • सिर में तेज दर्द भी लक्षण है 
  • कभी बेचैनी कभी उदासी
  • पानी से डर लगना
  • बोलने में परेशानी
  • अजीबोगरीब व्यवहार
  • हिंसक हरकते भी लक्षण है 
  • सांस लेने में परेशानी
  • पानी निगलने में परेशानी
  • अंत में लकवा लगन और दौरे पड़ना
  • कोमा में चले जाना
  • बेहोशी आना भी लक्षण है 

मेडिकल इलाज Rabies vaccine in Hindi

अस्पतालों में किसी जानवर अथवा कुत्ते के काटने पर इंजेक्शन जिसे Anti Rabies vaccine दी जाती हैं, यह वैक्सीन पहले दिन से से लेकर तीसरे तीन, सातवे दिन और 28वे दिन को दी जाती हैं. ऐसे में जिस कुत्ते ने आपको काटा हो और वह आपको काट लेने के बाद म गया हो तो ऐसे में वैक्सीन लेना अत्यंत जरुरी समझा जाता हैं. कुत्ता काटने का इंजेक्शन पेट में लगाया जाता हैं और इसका उपचार एक महीने तक चलता हैं.

सियार, कुत्ता, बिच्छू आदि के काट लेने पर काटे हुए स्थान पर शहद लगाने व उसी वक्त शहद खाने से वायरस का प्रभाव कम होता हैं. इसे प्राथमिक उपचार के तौर पर करना चाहिए.

कुत्ते के काटने पर क्या करना चाहिए

  • कुत्ता काटे स्थान पर चूहे की मेंगनी पीसकर लगाने से जल्दी ही आराम मिलता हैं.
  • कुत्ता काटे स्थान पर गिला चुना लगाने से जहा का असर कम हो जाता हैं.
  • 15 कालीमिर्च और जीरा घोटकर पिने से पागल कुत्ते का जागर उतर जाता हैं.
  • लाल मिर्च पीसकर पागल कुत्ता काटे स्थान पर भर देने से उसका जहर तुरंत नष्ट हो जाता है.
  • सूखा लहसनु और आम की कहते सिरके पर भर देने से जहर ख़त्म होता है
  • 4 ग्राम सत्यानाशी की जड़ को पीसकर 50 ग्राम दही में मिलकर रोगी को खिलने से पागल कुत्ते का जहर कम हो जाता हैं.
  • कुत्ता काटे स्थान पर 2-3 बार मदार का गुदा लगाने से जहर उतर जाता हैं, इसे कुत्ता काटने का घरेलु उपाय का प्रयोग एक महीने तक
  • रोजाना करना होता हैं.
  • घाव को जल्दी से भरने के लिए रोजाना एक दिन में दो तीन लहसुन की कलि खाये

पागल कुत्ता ने काटा है या नहीं यह कैसे पता करे

गेहूं के आटे को पानी में गूंदकर यानि ओसंकर उसकी कच्ची रोटी बिना तवे पर सेंके कुत्ता काटे हुए स्थान पर रखकर बाँध दें. थोड़ी देर बाद उसे खोलकर किसी दूसरे कुत्ते के पास खाने के लिए डाल दें. अगर वह स्वस्थ कुत्ता उस आटे को नहीं खाये तो समझ लेना चाहिए की की आपको पागल कुत्ते ने ही काटा है और अगर कुत्ता उस रोटी को खा ले, तो समझ लें की जिस कुत्ते ने काटा है वह कुत्ता पागल नहीं हैं.

ऊपर बताई गई रेबीज की होमियोपैथी मेडिसिन सिर्फ एक दिन में ही रेबीज वायरस को खत्म कर देती है इसे आप प्राथमिक उपचार समझकर तो कर ही सकते हैं वैसे भी रेबीज पागल कुत्ते के काटने पर ही होता है साधारण कुत्ता काटने पर कुछ नहीं होता. लेकिन फिर भी मन का वहम दूर करने के लिए आप बताया गया ट्रीटमेंट कर सकते है.

तो दोस्तों रेबीज का इलाज क्या है, कुत्ते के काटने का इलाज बताएं के बारे में हमने आपको सारी जानकारी दे दी हैं, इसका प्रयोग करने से सब ठीक हो जायेगा. आप इन उपाय को बिल्ली, चूहे, सियार आदि किसी भी जानवर के काटने पर कर सकते है.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

9 Comments

  1. A street dog bit me a month ago. I had taken one injection the next day. I did not complete the course because I had taken injections in the past (five years ago). However, I am slightly afraid now. Can I take hydrophobinum? If so how, and in what does?
    Thank you

  2. मुझे घर के पालतु कुत्ते ने एक साल पहले काटा था खून नहीं निकला था चूपे नाखुश ही दीख रहे थे मैने कोई टिका नहीं लगवाया क्या मै अभी एक साल बाद हैड्रोफोबिनम दवा ले सकता हुं और दवा का नाम और कितनी मात्रा लेनी चाहीये. कृपया सलाह दे. मेरे ई-मेल पर आपका आभारी रहूगा.

  3. Mare ko dog needs aj hi kata hai. Kya m is dya se thek ho shakta hu. Or ye dya kitne or kitne din lene hai.

  4. mujhe kutte ne 1 saal pehle pair mein kaata tha, mamaji ke ghat par bhabhi ne kaha ki injection lagwaya hua hai pata nahein lagwaya hai ki nahein humne rabbies ka injuction nahein lagwaya, ab 1 saal baad agar injection lagwa le to fayda hoga ya aap ki batayi dawa hydrophobinum 200 le krapya bataiye ki kitne no. ki aur kitni baar le taki rabbies se bache rahein

  5. Agar kutte ko rabies hoga to uska asar aap par bhi hoga, isliye btaye gaye upar kar le taaki aapke sharir se wah virus mit jaaye.

  6. mujhe apne ghar ke kutte ne lagbhag 6 mahine pehle ungli me kata tha maine us samay to ghaav saraab se dho diya tha kutte ko bhi rebij ka injection kaatne se 1 saal pehle lagvaya tha abhi kutta thik hai aur swasth hai kya mujhe bhi rabies ho sakta hai batane ki kirpa kijye aur kya mai ye dava le sakta hu yadi le sakta hu to kitni maatra me leni chahiye

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.