paralysis symptoms in hindi, paralysis attack symptoms in hindi, lakwa ke lakshan,

लकवा लगने से 6 महीने पहले यह लक्षण दिखने लगते है

लकवा के लक्षण क्या है बीमारी चाहे कोई सी भी हो वह किसी भी व्यक्ति को रोगी बनाने से पहले अपने आने की खबर दे देती हैं. हर एक बीमारी व्यक्ति को पहले चेतावनी जरूर देती हैं, लेकिन व्यक्ति फिर भी नहीं सम्हलता हैं.

इसी विषय में आज हम सिम्पटम्स के बारे में जानेंगे की यह रोग होने से पहले क्या चेतावनियां देता हैं, पक्षाघात में क्या-क्या लक्षण होते हैं आदि. पैरालिसिस एक स्नायु रोग हैं, जब हमारे शरीर की नसों नाड़ियों में कोई रुकावट आ जाती हैं तो वह शरीर के किसी अंग को खून ही पहुंचा पाती इस वजह से लकवा लग जाता हैं.

  • इस पोस्ट को पूरा पढ़ लेने के बाद यह भी जरूर पड़ें

लकवा के लक्षण क्या है

Lakwa ke lakshan btaye

paralysis symptoms in hindi, paralysis attack symptoms in hindi, lakwa ke lakshan,

  • यहाँ जितने भी लक्षण बताये जा रहे है, यह किसी भी व्यक्ति को लकवा लगने से पहले ही उसके शरीर में दिखाई देने लगते है. यह पहले सूक्ष्म (बारीक) छोटे-छोटे रूप में दीखते है फिर धीरे-धीरे बड़े रूप में दिखना शुरू होते है. ध्यान से इन सारे लक्षण को पड़े.

स्नायु का शिथिल पढ़ना

  • स्नायु यानि नेर्वेस नाड़ी तंत्र – जब भी किसी भी व्यक्ति को लकवा लगने वाला होता हैं तो उसके स्नायु शिथिल होने लगते हैं, वह कई बार काम नहीं करते, उनकी गति मंद धीमी पढ़ने लगती हैं. जैसे की अगर किसी व्यक्ति को हाथ में लकवा लगा हो तो उसे लकवा लगने से पहले ऐसे लक्षण दिखाई देंगे- हाथ का ठीक से काम न कर पाना, हाथ सुन्न पढ़ जाना आदि paralysis attack symptoms in Hindi.

उत्साह की कमी आना

  • जब किसी व्यक्ति को लकवा रोग घेरता हैं तो वह दिन ब दिन बिना किसी बात के ही उदास दिखाई देने लगेगा. उसके मन में किसी भी बात के प्रति उत्साह नहीं रहता, किसी चीज का शोक नहीं रहता हैं. यह लक्षण आप आसानी से पकड़ सकते है.

चढ़ने उतरने में परेशानियां आने लगना

  • कोई भी ऐसा कार्य जिसमे स्नायु नाड़ियों की ज्यादा जरूरत होती हो वह काम लकवे लगने वाला व्यक्ति नहीं कर पाता हैं. उदाहरण के लिए व्यक्ति अगर सीढ़ियां चढ़े, तो उसे सीढ़ियां चढ़ने व उतरने में बड़ी परेशानी होगी, जल्दी थकान आ जायेगी.  नसों में ठीक से खून न पहुंचने के कारण लकवा के रोगी को चढ़ने उतरने में तकलीफ होने लगती है इस लक्षण को भी नोट कर ले.

हाई ब्लड प्रेशर का और बढ़ना 

  • जिसे लकवा लगने वाला हो उसका हाई ब्लड प्रेशर दिन ब दिन बढ़ने लगता हैं, और अंत में यही लकवा लगने का कारण बन जाता हैं. हमारे परिजन को भी हाई ब्लड प्रेशर के वजह से ही पैरालिसिस हुआ था. इसलिए हाई ब्लड प्रेशर होने पर इसका जल्द से जल्द रामबाण उपचार करवाए, ताकि आपको भविष्य में लकवा पैरालिसिस न हो जाए.  कई लोगो को ब्लड प्रेशर हाई होने के कारण ही लकवा लगता है, लक्षण से बचने के लिए ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखे.

नींद की कमी आना 

  • लकवा (paralysis) के रोगी की दिन ब दिन नींद कम होने लगती हैं, वह चाह कर भी ज्यादा नहीं सो पाता. उसकी नींद छीन जाती हैं.

भूख में कमी आना

  • जिसको लकवा होने वाला हो उसकी भूख में भी गिरावट आती हैं, पेट भर भोजन करने का मन भी नहीं होता हैं.

कामशक्ति का क्षीण होना 

  • कई लोगों को ज्यादा सम्भोग करने के वजह से भी लकवा हो जाता हैं. इसमें धीरे-धीरे व्यक्ति की कामशक्ति बिलकुल क्षीण हो जाती हैं. Paralysis में यह आम लक्षण हैं जो की रोगी को दिखाई देने लगता हैं.

शरीर में खुजली होना

  • उदाहरण के लिए अगर किसी व्यक्ति को शरीर के दाए ओर पर लकवा लगेगा तो उसे लकवा होने से पहले अपनी दाए नाक पर खुजली सी होने लगेगी. यह नोट करने जैसी बात हैं, किसी भी व्यक्ति को अपनी नाक के जिस और खुजली चले तो उसे समझ लेना चाहिए की इस और लकवा लगने की सम्भावना हैं.

स्पर्श शक्ति कम होना

  • लकवा में शरीर में जिस तरफ या शरीर के जिस अंग में लकवा लगने वाला हो उस अंग की दिन ब दिन स्पर्श, महसूस करने की शक्ति क्षीण होने लगती हैं. जैसे दाए शरीर पर चींटी चलने पर भी महसूस नहीं होना की मेरे दाए शरीर पर चींटी चल रही हैं, ऐसा ही शरीर के किसी भी अंग पर हो सकता हैं.  यह बहुत ही जरुरी लक्षण है, हर एक व्यक्ति को पता होना चाहिए इस लक्षण के बारे में.

स्नायुवात ओर सुषुन्मा

  • स्नायु ओर सुषुन्मा इन दोनों में विकार बढ़ने लग जाते हैं, साथ ही इनसे सम्बंधित रोग भी होने लग जाते हैं. इससे पता लगाया जा सकता है की आपको लकवा लगने की सम्भावना बन रही है.

शरीर शून्यता

  • Paralysis का अटैक होने से पहले व्यक्ति के साथ कई बार ऐसा होता हैं की उसे उसका शरीर शून्य मालुम होने लगता हैं, यानी कई बार वह अपने शरीर को नियंत्रण में नहीं कर पाता हैं, हाथ को उठाने में परेशानी आती हैं आदि उसे नींद में कई बार ऐसा भी महसूस होता हैं की वह चाह रहा हैं की बिस्तर पर से उठ जाए लेकिन उसका शरीर बिलकुल भी हिलता डुलता नहीं. (लकवा में ऐसा ज्यादातर शरीर के किसी एक अंग के साथ होता हैं)

चींटी का काटना

  • ऐसा माना जाता हैं की अगर किसी को लकवा हुआ हैं ओर जिस अंग पर उसे लकवा हुआ हो उस अंग पर चींटी के चलने का एहसास अगर उसे हो जाए तो ऐसा समझ लेना चाहिए की व्यक्ति का लकवा जल्दी ठीक हो जाएगा. साथ ही अगर आपको खुद पर शक हैं की मुझे लकवा न हो जाए तो शरीर की स्पर्श शक्ति का परिक्षण लेते रहे, जैसे की आपको चींटी का चलना महसूस होता हैं या नहीं आदि. अगर आपको महसूस होता है तो समझ ले की आप सुरक्षित है.

पैरालिसिस के कारणों के बारे में भी जाने

  • याद रखें कारण ही निवारण होता हैं. अगर व्यक्ति अपने रोग के कारणों को गहराई से समझ ले, की उसे यह रोग क्यों व किस वजह से हुआ हैं तो उसके रोग का निवारण बहुत ही आसान हो जाता हैं. Paralysis में भी ठीक ऐसा ही हैं. अगर किसी को लकवा लग गया हैं तो उसे पहले लकवा लगने के कारणों के बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए ताकि वह इसे मिटाने के लिए सही उपाय आजमा सके. हमने इस विषय में लेख भी लिखा हैं आप उसे जरूर पढियेगा – लकवा होने के 10 कारण

लकवा से बचने के लिए क्या करना चाहिए

लकवा यानी Paralysis बहुत ही बेकार रोग हैं, पूरी जिंदगी को बिगाड़ देता हैं. लेकिन कई लोग यह जानते हुए भी अपनी आदतें नहीं बदलते व समय के साथ वह इस रोग का ग्रास हो ही जाते हैं. इसलिए दोस्तों अगर आप भी इस विषय में चिंतित हैं की मुझे लकवा नहीं होना चाहिए तो आपको यह जानकारी जरूर पढ़ना चाहिए. हमने इस जानकारी में इस रोग से बचने के लिए क्या क्या करना चाहिए, किन आदतों से दूर रहना चाहिए आदि इस विषय में पूरी जानकारी दी हैं जरूर पड़ें – लकवा से कैसे बचे – लकवा से बचने के उपाय (बचाव)

उम्मीद करते है आपको लकवा लगने के लक्षण, lakwa ke lakshan kya hai btaye के बारे में पढ़कर अच्छा लगा होगा. इसके अलावा ऊपर दिए गए पोस्ट भी जरूर पड़ें. हमने बहुत ही असरकारी उपाय भी बताएं है जो की पिछले पोस्ट में आप देख सकते है. उनको करने से काफी फायदा होगा.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

18 Comments

  1. Sir aaj subha hi mere papa bolte bolte tutlane lage, wo thik se word ko bol nahi pa rhe he, or unka right leg hi sidiya chadne me hil rha hai, please bataye ke kya karna hoga hume iske liye…

  2. Sir mere ek hath aur ek pair me kamzori rahti h chalte hue pair ladkhdate h.aur kuch din pahle kamar me dard bhi hua tha dard to ab theek h. Magar ye pareshni nhi theek ho rahi.kya ho sakta h ye.

  3. Rajkumar

    Mere right side m lakva hua tha aur ab thick ho gaya h ab thoda sa problem h jaise ki bike chalana ho to right hand m sunna pan ja jata h kya mujhe fir lakva ho sakta please answer deejiye my please

  4. Sir
    Meri mummy ko bhi ajj bhut dino se raat me sone smay achank se unki body me ek side se kaam karna band kardeti he aoor fhir thodi der bad thik ho jati he .

  5. Humne upar post me kuch method diye hai jinko karke aap pta lga skte hai, jaise aapke sharir me jahan par jyada khujali etc ho rhi hai or aapko lgta hai ki us hisse me lakwa lag sakta hai to us hisse pr aap chinti (Ants) ko choddh dein fir dekhe ki us chinti ka chalna apko mehsus ho rha hai ya nahi fir aage btaye

  6. Sir
    Mere mastik me dard, left side aankho me dard khujli ,garden me tanav ,haath ki ungaliyo me tanav ,kamar ke neeche naso me tanav, aur pair me naso me chok jaise Lagna Kya yeh lavkva ki sikayat hai, sir Gais Juda banti hai pl sir madad kare mai ek fauji aadmi ho

  7. Sir
    Mere mastik me dard left side aankho me dard,khujli garden me tanav haath ki ungaliyo me tanav kamar ke neeche naso me tanav aur pair me naso me chok kaise Laguna Kya the lavkva ki sikayat hai ok sir madad kare.

  8. iske liye humne isi post me aur bhi posts ke baare me btaya hai aap unhe padein to solution mil jayega.

  9. Mere bhai ko Face ke ek Side lakwa hua isse bachne Ya puri trh khtm kaise hoga or isse future m problem a skti hai

  10. aapne lakwa ke post par comment ki hai or yah lakshan lakwa se nhi milte hai

  11. Sir mere right me one side back pain tha uske baad wo pain sensation me badal gya maine doc ko dikhaya tha neuro me to unhone dawa di thi kuch din sahi tha par abhi kuch din pehle front side mind suunn ho gya tha hath pair kamp rhe the aur gla sukh rha tha uske baad se mera ling me koi harkat ni hai bhook ni lag rhi meri madad kre

  12. Sir
    Meri dahini aankh bayi aankh se chhoti dikhai deti h or to koi dikt nahi h
    Ha likhte samay dahine hath me kmpn hota h to kya ye paralicic k lksn ho skte h

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.