migraine ka ilaj, migraine treatment in hindi, migraine ka ilaj in hindi, migraine ke gharelu nuskhe in hindi

99% माइग्रेन का जड़ से इलाज : दर्द की दवा और रामबाण उपाय

माइग्रेन का इलाज दर्द की दवा और उपाय यह सिर के किसी एक हिस्से होता हैं, इसे अन्य नाम से भी जाना जाता हैं जैसे आधा सिर का दर्द, अध्पकारी (migraine) आदि. यह रुक-रुक कर और लगातार लंबे समय तक बना रहता हैं, यह सामान्य सिर दर्द से ज्यादा तकलीफ देता हैं इसी वजह से रोगी बहुत ही परेशान हो जाता हैं.

माइग्रेन का दर्द होते वक्त हमारे मस्तिष्क में खून की गति बढ़ जाती हैं इसी वजह से सिर में तेज दर्द पैदा होता हैं. कई लोग इससे छुटकारा पाने के लिए अंग्रेजी दर्द की दवा लेते हैं, लेकिन यह दवाइयां परमानेंट इलाज नहीं करती और नुकसान भी करती हैं. इसके लिए हम यहां पर आपको आयुर्वेदिक नुस्खे के बारे में बताएंगे इनके जरिये आपको 100% इस रोग से relief मिलेगा.

आँखों का दर्द करना, धुंधला दिखाई देना, भूख की कमी, मितली, उलटी जैसा जी होना, पसीना ज्यादा आना, कहीं मन न लगना, कभी सिर के एक हिस्से में तो कभी पुरे सिर में भयानक दर्द होना आदि यह सभी माइग्रेन की बीमारी होने के संकेत होते हैं.

इस बीमारी के मुख्या कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हुए ज्यादातर यह ज्यादा दवा लेने, रजोनिवृत्ति, मासिक धर्म, तनाव, कैफीन, शराब आदि से होता हैं.

  • पोस्ट को ध्यान से पूरा पड़ें, निचे एन्ड तक पड़ें.

migraine ka ilaj, migraine treatment in hindi, migraine ka ilaj in hindi

ज्यादातर यह दर्द का दर्द महिलाओ में पाया जाता हैं.

  • अब पढ़िए रामबाण व अचूक घरेलु उपाय व आयुर्वेदिक नुस्खे के बारे में जिनसे आप आधे सिर दर्द का इलाज कर सकेंगे, इन सभी के प्रयोग से आपको माइग्रेन से पूरी तरह छुटकारा मिल जायेगा. बताये जा रहे उपाय बाबा रामदेव, राजीव दीक्षित जी व अन्य आयुर्वेदिक डॉक्टर्स द्वारा बताये गए हैं.

माइग्रेन का इलाज बताओ क्या है

Migraine ka ilaj btaye kya hai

#1. एक कपड़े को गैस की आंच में गर्म कर के सिर में जहां दर्द हो रहा हो वहां पर 7-8 मिनट तक सेंक करे उसके बाद बर्फ के टुकड़ों को बारीक़ पीसकर दर्द वाली जगह पर 7-8 मिनट तक मालिश करे, इस तरह गर्म ठन्डे के सेंक से दर्द से तुरंत रिलीफ मिलती हैं.

#2. कई लोगों को सिर्फ ठंडा यानि बर्फ के सेंक से ही आराम मिलता हैं. वहीं कुछ लोगों को गर्म कपडे के सेंक से आराम मिलता हैं. आप दोनों का प्रयोग कर के पता कर सकते हैं की आपके लिए कोनसा सेंक बेहतर हैं.

#3. शुद्ध घी को कपूर में मिक्स करके दर्द वाली जगह पर रगड़ने से दर्द दूर होता हैं.

#4. सूखे हुए नीबू के छिलकों को पीसकर दर्द वाली जगह पर लगाए, इससे दर्द में आराम मिलता हैं और बेचैनी उदासी से भी छुटकारा मिलता हैं.

#5. एक रिसर्च में जानने में आया हैं की माइग्रेन का दर्द होते समय अगर व्यक्ति Sex करे तो उसको दर्द से राहत मिलती हैं.

#6. दिन में दो 2-3 बार व दर्द के समय देसी गाय के घी की 2-3 बूंदे नाक में डालने से बहुत राहत मिलती हैं यह माइग्रेन आधे सिर के दर्द का आयुर्वेदिक उपचार करता हैं 100% रिलीफ देगा, देसी गाय का घी माइग्रेन का घरेलु उपचार में बहुत अचूक होता है.

migraine ka gharelu upchar, माइग्रेन का घरेलू उपचार, माइग्रेन का आयुर्वेदिक इलाज

जब भी दर्द होने लगे तो तुरंत ही ब्रह्मारी प्राणायाम करे, 5-10 मिनट तक ब्रह्मारी प्राणायाम करने से आपको तुरंत मानसिक शांति प्राप्त होगी व दर्द से राहत मिलेगी.

#7. तेज दर्द होने पर सरसो के तेल या देसी गाय के घी की 2 बून्द नाक में डाले, ऐसे में रोगी को लेता कर रखे. इन दोनों के प्रयोग से माइग्रेन का अटैक आने पर तुरंत राहत मिलती हैं.

#8. माइग्रेन का इलाज में दर्द के समय गर्दन पर, पैरों पर व कंधों पर तेल से मालिश करने से भी बहुत राहत मिलती हैं.
रोजाना सुबह फल खाये विशेषकर सेब खाये, ऐसा देखा गया हैं की सेब खाने से बहुत लाभ होता हैं.

#9. पत्तेवाली गोभी की पत्तियां अच्छे से पीस ले और इस पेस्ट को दर्द वाली जगह पर लगाए, इससे भी आधे सीसी के दर्द में आराम मिलता है.

#10.  इसमें फलों का रस बहुत लाभप्रद होता हैं, खासकर गाजर और पालक. इसलिए आपको इन दोनों का रस व सेवन रोजाना नियमित रूप से करना चाहिए.

#11. माइग्रेन का अटैक आते ही अपनी जीभ की नोक पर जरा सा 1 चुटकी नमक रखे व करीबन 1 मिनट तक रखे व फिर पानी पि जाए. यह दर्द होने पर तुरंत असर करता हैं माइग्रेन के घरेलु नुस्खे में से एक हैं.

बाबा रामदेव से जाने

  • बाबा रामदेव माइग्रेन के लिए योग – जिनको भी कई समय से माइग्रेन की बीमारी हैं, और उन्हें अभी तक परमानेंट ट्रीटमेंट नहीं मिला तो उनको प्राणायाम का सहारा लेना चाहिए. यह 101% उपचार कर देगा, आप एक सप्ताह ही प्रणयामा कर के परिणाम देख सकते है, आपको बहुत लाभ होगा.
  • इसके लिए आप रोजाना सुबह के समय 10-15 मिनट अनुम विलोमा प्राणायाम करे, 5 मिनट तक ब्रह्मारी प्राणायाम करे और 5-10 ॐ का उच्चारण करे बस अगर आप रोजाना 20-25 यह करते हैं तो आपको 100% छुटकारा मिल जायेगा.
  • जलनीति व सूत्रनेति करने से भी माइग्रेन का दर्द, आंखों की समस्या, सामान्य सिर दर्द आदि से छुटकारा मिलता हैं.
  • पतंजलि की दवा – गोदन्ती भस्म, मोती पिष्टी व मुक्ताशुक्ति को मिलाकर आधा-आधा ग्राम रोजाना नियमित रूप से लें.
  • अविपत्तिकर चूर्ण 100 ग्राम, मुक्ताशुक्ति भस्म 10 ग्राम को मिलाकर रख लें. 2-3 ग्राम या आधा-आधा चम्मच नियमित रूप से खाना खाने से पहले दोनों समय पानी के साथ लें, इस माइग्रेन की दवा का उपयोग करे.
yoga for migraine in hindi, migraine ke liye yoga
Yoga For migraine in Hindi

कफ बढ़ने से माइग्रेन होने पर – 100 ग्राम शुद्ध पानी में 1 चम्मच रीठा व एक चुटकी त्रिकुटा या सोंठ व कालीमिर्च का पाउडर डाले. फिर दो दिन तक इसको ऐसे ही रखें. 2 दिन बाद छान कर रख लें. इसकी 2-3 बून्द दोनों नाक में डालें. इससे जल्द ही सारा कफ बाहर हो जायेगा.

  • मेधा वटी का प्रयोग करे. छोटी उम्र वाले 1-1 गोली व बड़ी उम्र वाले 2-2 गोली का सेवन करें.
  • बादाम रोगन दूध में डालकर पिए, बादाम रोगन की 3-5 बून्द दोनों नाक में दलका उसे निगल जाए इससे आराम मिलेगा.
  • इस बीमारी में सुबह-सुबह देसी घी से बानी जलेबी खाकर दूध पिए. गाय का दूध हो तो और भी अच्छा लाभ मिलेगा. इससे हर तरह का सिर दर्द एक दम अच्छा हो जाता हैं.

रोजाना रात को सोने से पहले देसी गाय के घी को गैस पर हल्का सा गर्म कर के 2-3 बून्द दोनों नाक में डालें और सो जाए इससे हर तरह के सिर दर्द, माइग्रेन आधे सिर के दर्द आदि से हमेशा के लिए छुटकारा मिलता हैं.

शरीर में पानी की कमी न रहने दें, एक दिन में 15-16 गिलास पानी पिए

माइग्रेन की दवा बताये

  • माइग्रेन का अटैक आने पर यह दवा ली जाती हैं –
  • यह भी दर्द ख़त्म कर सकती हैं – Aspirine, Ibuprofen, Acetaminophen.
  • Dihydroergotaminel, Triptans – यह दवा खासकर माइग्रेन के लिए ही होती हैं, यह सिर्फ इंजेक्शन और स्प्रे फॉर्म में मिलती हैं. 48 घंटो से ज्यादा दर्द बने रहने पर Ergorts दवा दी जाती हैं, यह भयानक माइग्रेन के लिए होती हैं. अगर रोगी इसका ज्यादा सेवन करे तो यह साइड इफेक्ट्स भी कर सकती हैं.

माइग्रेन की बीमारी में क्या करे

  • नींद पूरी लें, और सिर्फ रात को ही सोये दिन में सोना बंद कर दें.
  • तनाव मुक्त रहने की कोशिश करे
  • रोजाना बताये गए प्रायाणाम करे
  • मौसमी फल खाये, गाजर, पालक आदि का रस रोजाना पिए
  • हरी पत्तेदार सब्जियां खाये
  • सुबह शाम खुली हवा में टहलने जाए

क्या न करे

  • तेज धुप से बचे
  • कंप्यूटर और मोबाइल का ज्यादा प्रयोग न करे
  • ज्यादा रोशनीदार जगह पर काम न करे
  • इत्र आदि तेज गंध का प्रयोग न करे
  • देर रात तक न जागे
  • बंद कमरे या मकान में न रहे

क्या न खाये – नूडल्स, शराब, तम्बाकू, जंक फ़ूड, कैफीन, पनीर चॉकलेट, प्याज, केले, अचार आदि का परहेज करे.

इन सभी माइग्रेन का इलाज बताओ, migraine ki dawa btaye kya hai का उपयोग कर सकते हैं, वैसे यह रोग महिलाओ में ज्यादातर होता हैं, इसकी वजह शरीर में हार्मोन्स के इम्बैलेंस होने से होता हैं. इसके साथ ही खान-पान पर विशेष ध्यान दें और परहेज भी करे. इन सभी को करने से आपको बहुत ही लाभ होगा।

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.