दौरे और मिर्गी जड़ से ख़त्म करने का इलाज, दवा और 9 उपाय

बताये मिर्गी का इलाज करने के उपाय मस्तिष्क का काम न्यूरॉन्स के सिग्नल पर निर्भर करता हैं और जब इस काम में किसी वजह से बाधा उतपन्न होती हैं तो मिर्गी के दौरा पड़ता हैं और मस्तिष्क के नर्व सेल की कार्यप्रणाली में किसी प्रकार की क्षति पहुंचने से भी यह बीमारी पैदा होती है.

दिन ब दिन इस बीमारी के रोगियों की संख्या बढ़ती जा रही हैं लेकिन अभी तक इसका सटीक अचूक इलाज नहीं मिल पाया हैं. हम यहाँ आपको इसी बारे में बताएंगे. यह मिर्गी का दौरा रोकने के आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे व उपाय बाबा रामदेव, राजीव दीक्षित व आयुर्वेद डॉक्टरों द्वारा बताये गए हैं.

मिर्गी के लक्षण

  • चिड़चिड़ापन
  • तनाव
  • थकान
  • दौरा पड़ने पर शरीर का संतुलन खो जाना
  • अचानक चक्कर आकर जमींन पर गिर जाना
  • कमजोरी होना
  • मांसपेशियों में खिंचाव होना
  • आंखें ऊपर की तरफ हो जाती हैं
  • सुनने में परेशानी
  • स्वाद लेने में दिक्क्त

मिर्गी के कारण

  • पूरी नींद नहीं लेने से
  • अल्कोहल का अधिक सेवन
  • सर में किसी तरह की चोट लगने से
  • खून में ग्लूकोस की कमी से
  • ब्रेन ट्यूमर
  • दिमागी बुखार
  • जेनेटिक कंडिशन
  • कार्बन मोनोऑक्साइड के विषाक्तता के कारण

mirgi in hindi, epilepsy in hindi, mirgi kaise aati hai

मिर्गी का इलाज बताओ क्या है

Mirgi ke daure ka ilaj btaye

  • पोस्ट को एन्ड तक पुरे ध्यान से पड़ें, जल्दबाजी न करे.
  • बाबा रामदेव – रोजाना सुबह के समय 10-15 मिनट अनुम विलोमा प्राणायाम और ब्रह्मारी प्राणायाम 5-10 मिनट तक करे. इसके साथ ही अगर आप बाकी सारे आठ प्राणायाम भी कर सकते हैं तो और भी अच्छा होगा. प्राणायाम करने से मिर्गी हमेशा के लिए खत्म हो जाती हैं इसके लिए आपको लगातार नियमित रूप से प्राणायाम का अभ्यास करना होगा इसमें 1-2 महीने से ज्यादा भी लग सकते हैं लेकिन ट्रीटमेंट 100% होगा और हमेशा के लिए होगा.
  • और प्राणायाम के साथ मिर्गी में मेधावटी की एक-एक गोली सुबह शाम लेना शुरू कर दें. छोटी उम्र के लोग 1-1 गोली बाद बड़ी उम्र के लोग 2-2 गोली का सेवन कर सकते हैं. मेधा क्वाथ का प्रयोग करे 1-1 चम्मच मेधा क्वाथ का काढ़ा बनाकर पिलाये इससे भी में लाभ होगा.
  • मिर्गी में पीपल या बड़ (बरगद) की दाढ़ी जटा को उबालकर पिलाये, तो मिर्गी में बहुत लाभ होगा.
  • जिनको मिर्गी के दौरे अधिक पड़ते हैं वे सारस्वतीरिष्ट का नियमित रूप से सेवन करें, लाभ होगा.
  • 3-5 बादाम को रात को भिगोकर रख दें व सुबह बादाम की ऊपरी परत छिलके को अलग कर के घिसकर पिए इससे भी यह मिर्गी दूर होती है.
  • मिर्गी के दौरा के अखरोट का भी विशेष महत्व होता हैं, इसके लिए रोगी को रोजाना किसी न किसी रूप में अखरोट का सेवन करना चाहिए यह मस्तिष्क को मजबूती देता हैं व मिर्गी की बीमारी का उपचार कर उसे दूर करता हैं.
  • बाबा रामदेव – अनुम विलोमा, ब्रह्मारी प्राणायाम और मेधावटी का प्रयोग कराकर हमने हजारों लोगों की मिर्गी हमेशा के लिए ठीक की हैं, और जब हजारों लोगों की मिर्गी का ट्रीटमेंट इससे हो सकता हैं तो फिर आपको इससे लाभ क्यों नहीं होगा, इसको जरूर करें.
  • जिनको मिर्गी के दौरे पड़ते हैं, उन्माद हिस्टीरिया की शिकायत हैं. जो बच्चे मंद बुद्धि के है या अति चंचल है उनके लिए ब्राह्मी का प्रयोग बहुत ही कारगर है. इसके लिए ब्राह्मी को जड़ सहित उखाड़कर धो लें और छाया में सुखाकर सेवन करे. ताज़ी उपलब्ध होने पर इसकी 4-6 पत्तियों को प्रतिदिन खा सकते हैं. इससे भी दौरे व उन्माद मिर्गी की परेशानियों में लाभ होगा.
  • जिनको मिर्गी व हिस्टीरिया के दौरे पड़ते हैं उनके लिए सेब का रस बहुत ही लाभकारी होता हैं. इसके लिए एक गिलास सेब के रस में 2-3 ग्राम ब्राहमी का पाउडर घोलकर पिए या एक चम्मच ब्राहमी के पाउडर को फ़ाङकर रस को पि जाएँ. इससे महिलाओं को होने वाली हिस्टीरिया व मिर्गी के दौरों में आराम मिलेगा. इसके नियमित प्रयोग से घबराहट व बेचैनी में भी आराम मिलेगा एपिलेप्सी ट्रीटमेंट हिंदी में.
  • राजीव दीक्षित जी – इस रोग में एक साल तक देसी गाये के घी की दो-दो बून्द दोनों नाक में रोजाना डालते रहने से एक साल के भीतर रोग जड़मूल नष्ट हो जाता है. दौरे पड़ने पर भी देसी गाय के घी को नाक में डालने से होश आ जाता हैं.

mirgi ka ilaj, mirgi ka ilaj in hindi

  • इस मिर्गी को अपस्मार भी कहते हैं बहुत ही दुखदाई रोग हैं. इसे लाइलाज भी माना जाता हैं. ताजे कंटकारी के पौधे को कूटकर इसका रस निकाल लें. इस रस की 2-2 बून्द रोजाना खाली पेट दोनों नाक में डालने से मिर्गी में रामबाण लाभ मिलेगा. ध्यान रहे रस ताज़ा ही प्रयोग करे. इससे सिरदर्द माइग्रेन में भी लाभ मिलेगा. यह दौरे epilepsy attack treatment करता हैं.
  • मिर्गी का इलाज :- मिर्गी का दौरा भोजन आदि चीजों को खाने से शरीर में विषैले पदार्थ के इकठ्ठा हो जाने से भी पड़ता हैं. वहीं कुछ लोगों में यह बीमारी जन्मजात होती हैं. ऐसे में जब भी किसी व्यक्ति को दौरा पढ़े तो उसे खुली हवा में लेटा दें व उसके मुंह पर पानी के छींटे मारे. इसके साथ ही तुलसी के पत्तों के रस में सेंधा नमक मिलाकर रोगी की नाक में टपकाये इससे भी दौरा ख़त्म हो जाता हैं. इसके अलावा सीताफल के पत्तों क रस भी नाक में टपकाने से लाभ होता हैं.
  • सफ़ेद प्याज का रस एक चम्मच एक ग्लास पानी में मिलाकर पिने से दौरे धीरे-धीरे आने बंद हो जाते हैं.
  • मिर्गी का दौरा के इलाज के लिए राइ, आक की जड़ का छल का रस, कपूर, तुलसी का रस, लहसुन, हींग आदि को पानी में पीसकर सुंघाने से दौरा जल्दी ख़त्म हो जाता हैं.

मिर्गी के दौरे का इलाज करने के उपाय

  • रोगी को रोजाना पिने के पानी में सूर्यतप्त जल बनाकर पीना चाहिए. सूर्यतप्त जल बनाने की विधि आप किसी भी आयुर्वेदिक डॉक्टर से जान सकते हैं. इसके प्रयोग से मिर्गी जल्दी ठीक होती हैं.
  • सुबह के समय गुन-गुने पानी में त्रिफला देना भी मिर्गी की शिकायत में लाभकारी होता हैं इसके साथ ही सोयाबीन को दूध के साथ खाने से भी बहुत फायदा होता हैं.
  • जिस व्यक्ति को यह बीमारी हो उसे अकेले कहीं पर नहीं जाना चाहिए, अकेले वहां चलाना, सीढियाँ चढ़ना आदि उसे कहीं भी कुछ भी काम अकेले नहीं करना चाहिए. क्योंकि ऐसे में अगर अटैक दौरा पढ़ जाए तो फिर उसकी देखभाल के लिए वहां कोई न होगा और व्यक्ति को इससे ज्यादा नुकसान हो सकता हैं. इसलिए रोगी को हमेशा किसी न किसी व्यक्ति के साथ रहना चाहिए व मिर्गी अटैक को दूर करने वाले घरेलु उपाय करने चाहिए.
mirgi ka dora, mirgi ka daura
दौरा पढ़ने पर मिर्गी के रोगी को इस तरह लेटा दें व उसके आसपास खड़े न रहे उसे खुली हवा में ही रहने दें. इस तरह सीधी तरह से रोगी को सुलाने से दौरा जल्द समाप्त हो जाता हैं व कोई हानि का खतरा भी नहीं रहता.

बचने के लिए उपाय

  • मिर्गी की बीमारी से हमेशा के लिए छुटकारा पाने के लिए रोजाना अनुम विलोमा, ब्रहमारी आदि प्राणायाम करना चाहिए.
  • तरल पदार्थ का ज्यादा सेवन करना चाहिए, रोजाना मौसमी फलों के रस का सेवन करना चाहिए.
  • सुबह के समय टहलने जाना चाहिए
  • मिर्गी में मस्तिष्क को मजबूत करने वाले पदार्थों का सेवन करना चाहिए
  • मानसिक तनाव से बचना चाहिए

बच्चों में मिर्गी जल्दी होता हैं, क्योंकि बच्चे का शरीर अभी विकाशील अवस्था में रहता हैं और ऐसी अवस्था में मिर्गी व अन्य रोग उसे बड़ी आसानी से अपना ग्रास बना सकते हैं. ऐसे में जरुरी हैं की आप तुरंत ही शिशु बच्चों में मिर्गी का ट्रीटमेंट करवाए. क्योंकि बचपन से आई मिर्गी शरीर को कई तरह से क्षति पहुंचाती हैं व उसके बौद्धिक विकास में बाधा बनती हैं.

दोस्तों यह में मिर्गी रोग बहुत बेकार होता है, शारीरिक और मानसिक रूप दोनों से बहुत नुकसान करता है. इसलिए आप इसको जल्द से जल्द ठीक करने में लग जाए. खासकर बच्चों पर विशेष ध्यान दें.

इस तरह आप मिर्गी के दौरे का इलाज के उपाय, mirgi ka ilaj bataye kya hai का प्रयोग करे. हमने यहां पर दौरे आने पर उसे खत्म करने के उपाय भी दिए हैं उनको भी आप आजमा सकते हैं. मिर्गी की दवा गोली से भी ज्यादा फायदेमंद हैं.
mirgi ke lakshan, mirgi symptoms in hindi, epilepsy symptoms in hindi

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

18 Comments

  1. Mai amit mujhe yek shall see meergi rog hai or iska ilaj bhinahi hai is bimari ko jad se khatm kaise kare plzz jorur batay

  2. Namskar g mera Naam Sandeep ha or muje two Baar mirgi ke Dora as liye please kya achcha SA tarika batao

  3. Mera baby 10 month ka hai, jab vo 06 month ka tha tab use phli baar ek hi din main 03 baar mirgi ka doura aaya tha tab uska (MRI, EEG, Blood Test, ECG Test) doctors ne kiya tha but sab reports normal aayi. Lekin ab vo 10 month ka hai or uski MRI report dubara krayi gyi jisme uske dimakh main (Pani ki theli) main swelling aayi. Lekin vo born time pe late roya tha. please koyi solution btaye. Mob No 7769811582

  4. Meri age 37 years hai, or mujhe mirgi attack 3/4 baar aaya,plz koi jad se khatam karne vala ilaaj batao

  5. Comment Text*
    main 6 month ka tha tab se mujhe mirgi ki bimari hai abhi meri umra 30 saal hui hai phir bhi mujhe ye rog hai kitni bhi dawaiya ki lekin koi fark nahi padta please meharbaani karke mujhe is bimari se mukti mile aisa upay bataiye.Bhoi satyam

  6. Mujhe pichale 3 saal se dore aa rhe h.. doctor vedh sabko dikha liya. Lekin kuch fayda nhi . Jadi buti ka ilaj bhi kiya h 8 mahine se to fayda mila lekin fir se problem suru ho gai h..Kripya acha sa jad se khatm karne wala ilaj mere email address pr bataye

  7. Mere papa jinko lagbhag 8 saal se mirgi daura parta hai unke umra lagbhag 55 saal hue hai please es bimari ko rokne ka upaay bataiye maine bahut prayass kiya lekin kahi nahi eska ilaaj mila please mujhe bataiye

  8. Hi sabse best upay hi btaye hai, unko thik se pado apako best upay mil jayega.

  9. Meri sister ko 8 saal se dhore aa rhe he to es ke liye ap muje jo sab se best upay he wo bata do please or us ki age 16 saal he

  10. Chota. Baccha3maah ka hai maa ko lagbhag 6maah pahle se mirrgi ke dorre aa rahe hai Kay uppay karru Jadsé hatjae khatam ho jaye

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.