facial paralysis in hindi, face paralysis in hindi, face paralysis images

मुंह चहरे पर लकवा लगना और घरेलु उपाय – Facial Paralysis

चहरे मुंह का लकवा का इलाज के बारे में मुंह पर पैरालिसिस (पक्षाघात) लगने से मुंह का एक अंग निष्क्रिय होकर एक तरफ लटक जाता हैं. कई रोगियों के मुंह से थूक गिरता रहता, वह उसे रोक भी नहीं पाता आदि यह बहुत ही भद्दा हैं. रोगी का चहरे कुरूप सा हो जाता. आइये जाने आगे इसे के बारे में.

इसमें मुखमण्डल (मुंह) के एक तरफ का भाग जड़ होकर घूम जाता हैं. चहरे का एक ओर का कोना निचा दिखने लगता हैं, एक तरफ का गाल ढीला हो जाता हैं. होंठों से थूक बिना इच्छा के गिरता रहता हैं, तथा रोगी थूक सीधा नहीं फेंक सकता. संस्कृत में इस रोग को मुख पक्षाघात कहते हैं. आर्दित भी इसी रोग का नामान्तर हैं.

यह रोग मस्तिष्क के बिगाड़ के कारण होता हैं. इस रोग में चहरे के एक और मांसपेशियों पर ही हमला होता हैं. बोलना, हंसना, खाना पीना और मुख का सञ्चालन आदि सब बंद हो जाता हैं. आंख भी कभी कभी मीच सि जाती हैं. मुंह के लकवे के लगने पर रोगी चहरे पर कोई प्रतिक्रिया नहीं कर पाता उसका चेहरा पूरी तरह निष्क्रिय हो जाता हैं.

मुंह का लकवा, face paralysis in hindi, facial paralysis treatment in hindi, मुखमण्डल का लकवा

चहरे मुंह का लकवा के लक्षण

Muh Par lakwa

  • चहरे पर लकवा लगना : इस रोग के होने से पहले चहरे की हड्डियों में दर्द प्रतीत होता हैं और चहरे की त्वचा की स्पर्श शक्ति कम हो जाती हैं. मुख का आधा भाग बहुत फड़कने लगता हैं. मल कभी गाढ़ा, कभी पतला निकलने लगता हैं.

facial paralysis in hindi, face paralysis in hindi, face paralysis images

  • रोगाक्रान्त होने वाला मुख का भाग भारी और स्फीतियुक्त हो जाता हैं, यानी मुंह के जिस और लकवा लगने वाला हैं वह हिस्सा भारी और निष्क्रिय मालूम होने लगता हैं, चहरे का रंग बदलना शुरू हो जाता हैं. उसके बाद सिर कांपने लगता हैं. बोली अस्पष्ट निकलने लगती हैं. नाक, आंख, भौं तथा गाल में वेदना होती हैं और ये अंग टेड़े हो जाते हैं.
  • निचे के होंठ ज्यादा दर्द करते हैं. रोग की ओर की गर्दन, ठोड़ी, दांत पीड़ायुक्त हो जाते हैं. रोगाक्रान्त भाग का खून, स्नायु, नसें, सुखकर सिकुड़ जाती हैं. बोलते समय रोगी के नेत्र स्तब्ध हो जाते हैं. छींक आने को होती हैं, पर छींक बाहर आती ही नहीं.
  • जीभ दुर्बल होकर बाहर निकल आती हैं. कान में कम या बिलकुल सुनाई नहीं देता. सारे के सारे दांत चलायमान हो जाते हैं.
  • कभी कभी रोगी का चेहरा पीला पड़ जाता हैं. कभी ज्वर चढ़ जाता हैं. प्यास बहुत लगने लगती हैं. बेहोशी छा जाती हैं.
  • दोनों होंठ आपस में मिल नहीं पाते. कभी कभी एक आंख बंद ही नहीं होती और सोते समय भी खुली ही रहती हैं. ललाट में सलवटे पड़ जाती हैं. आँख के निचे की पलक गिर पड़ती हैं तथा सांस लेते वक्त शब्द होता हैं.

face paralysis photo, munh ka lakwa

चहरे पर लकवा होने का कारण

  • ऊंची आवाज़ से, चिल्लाने पुकारने, भाषण करने से, सख्त चीजों को दांतों से तोडने से, अधिक मुंह फाड़कर जम्हाई लेने से, खूब ठठाकर हंसने से, शक्ति से अधिक भार उठाने से, गर्दन को टेडी-मेडी करके सोने बैठने से, शरीर में रक्त की कमी होने से, मुख की स्नायुओं में किसी प्रकार का विकार होने से, गालों पर तीव्र ठण्ड लगने से, कान का घाव होने से तथा चहरे पर चोट आदि लगने से भी कभी कभी यह रोग हो जाता हैं.
  • इन सभी करने से मस्तिष्क में खून का की नस का फट सकती है, मस्तिष्क की नस में खून के थक्के बनजाते है जिस वजह से लकवा हो जाता है.

घरेलु उपचार

  • 15 ML एरंड का तेल ले इसे अच्छे से पकाकर गर्म दूध में डालकर दोनों समय सुबह और शाम को सेवन करे.
  • 15 ML अमलतास के पत्तों का रस निकाले और इसे दोनों समय सुबह शाम पिए साथ ही मुंह पर जहां लकवा लगा हो वहां पर इसकी मालिश करे.
  • छुहारे रोजाना रात को सोने से पहले दूध के साथ खाये, दूध में उबालकर भी खा सकते है.
  • देसी गाय के घी की दो दो बुँदे दोनों नाक में रोजाना रात को डाले तो इससे भी अत्यंत लाभ होता है.

पिछले पेज पर वापस जाए

चहरे की खोई हुई रोनका वापस लाने के लिए, यानी मुंह का लकवा लगने का इलाज face paralysis in Hindi करने के लिए हमने कई घरेलु उपाय बताये हैं, यानी सिर्फ मुंह ही नहीं बल्कि हर तरह के लकवा के लिए हमने आयुर्वेदिक उपचार दिए हैं. मुख्यतः इन सभी लकवो का विज्ञानं एक ही होता हैं, इसलिए इनका उपचार भी एक ही होता हैं.

Submitted : DR Sudip Mehta (Ayurvedic)

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

26 Comments

  1. Hi, sir mera chehra pata nhi kyun ek tarf teda lagta hai,aisa sirf muhje lagta hai, dusron se puchhne per sab kahte ki thik hai chehra
    Per mujhe aisa lagta hai ki mera chera teda hai
    Ek taraf ki hadi jyada lagti hai dusre taraf ki kam
    Ek taraf chehr Hlka bhara lgta hai dusre taraf muda hua
    Sir me kya kari

  2. Hi aap humne jo paralysis par saare posts kiye hai wah sabhi padh lein to aapko isse chutkara paane ki raah mil jayegi

  3. Hi sir my name is rakesh from jaipur.sir meri bhanji ko birth ke 2-3 month bad face ke ek side lakve jaisa ho gya h,uska mouth tedha ho gya h.ek eyes puri band nhi hoti hai.please suggest me.

  4. Good afternoon sir…mera brain tumour ka operation hua tha 2016 me kaan k pass hua tha yeh operation. Operation k baad se mera face me sujan aa gya muh teda ho gya avi tak mera muh thik nhi hua smile karti hu to muh pura teda lgta hai kya yeh thik ho jayega
    ..

  5. Bilkul 100% recovery ho skti hai, aap hamare dusre post ko bhi padein wahan hmne upay diye hai jinke jariye aapko bahut fayda hoga.

  6. Sir meri facial palsy ko 1 year ho gya hai..abi 80% recovery to ho gyi hai..kya ye 100% theek ho sakti hai. 1 year phele axident hua tha ear ka parda fat gya tha aur blooding b hui thi tabi se facial palsy ho gyi thi…

  7. Aap apne ek tarah ke face par kuch karke dekhiye jaise barf ko ragad kar dekhiye, sui ko chubho kar dekhiye agar aapko barf va sui ki chubhan ka ehsas ho rha hai to koi problem nhi hai agar ehsas na ho to samjhe ki paralysis ho rha hail

  8. Sir main bhot 10sn m Ho ajj mere dost ne mujha achanak se Dakha or Kaha k bhai Tera face 1side kui hoja rha h tune notice Kiya h kuh sir plz hlp krdo plzz sir

  9. Upay diye gaye hai mirta aap related post section me jaakar Lakwa se related posts padein

  10. Meri mama ko 3 din phle hi chahre me lakwa lga h plss Sir jld se jld koi upaye bataye plzzzzzz

  11. Aap doctor se mile or Blockage ko kholne ki dawa lein ya yahaan hmne jo pichle lekh me upay btaye the wah kare.

  12. Meri ek mahine pahle right aankh 1month ran continue farkhi thi phir usi aankh se pani v nikalta hai ab 1 month baad kabhi kabhi naan pharkhti hai thodi v tied hoti jaise nak tite ho rahi thi thode der ke liye hoti hai kabhi kabhi kya bimari hai samjh nahj aa raha pkz baraye

  13. Yes hmne yahan ek lekh diya hai usme lakwa ka ilaj aur mandiro ke baare me dono lekh hai apa un dono ko padiye

  14. Sir mera face me face paralysis ho hai one side me left side hoao hi kya sir thik ho gaa ..Date 27-1-2018.ko howa hi sir Kav tak nhi thik hoao hi

  15. Thank you sir for providing such a helpful information baba god bless you for this work . You cured my paralysis by home remedies and visiting the temples of paralysis in rajasthan a lots of thanks to you.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.