100% रुक कर बार बार पेट में दर्द होने का इलाज 8 आसान उपाय

बार बार व रुक रुक कर पेट दर्द होना का इलाज क्या है यह शरीर को बहुत कमजोर कर देता है, इससे रोगी के शरीर में बहुत कमजोरी आ जाती है, मुंह छिंटक जाता है. ज्यादातर यह दर्द पेट के निचले हिस्से व नाभि के पास होता है.

ख़राब भोजन करने से, शरीर कुछ विषैले तत्व चले जाने, कच्चा भोजन करने से, अधपकी रोटी खाने से, नाभि खिसकना या कब्ज यह रुक रुक कर पेट दर्द होने के कारण होते है. आइये आगे जाने आयुर्वेदिक उपचार व घरेलु नुस्खे के बारे में जिनसे इसे रोका जा सकता हो पढ़िए bar bar pet me dard hona ke upay in Hindi.

कारण :

  • कब्ज होना
  • अपेंडिक्स का रोग होना
  • कच्चा भोजन करना
  • ख़राब भोजन करना
  • कुछ बासी, गलत खा लेने से
  • एक ही समय पर तरह तरह की चीजे खा लेने से
  • कच्ची रोटियां खाने से
  • नाभि खिसकने से
  • भारी वजहें उठाने से
  • पेट साफ़ न होने से
  • पेट में कीड़े होने से

पेट में दर्द होना यह संकेत देता है की पेट के अंदर कुछ समस्या चल रही है, वहां कुछ गलत आहार पहुंच गया है या वहां पर ज्यादा ख़राब चीजे इकट्ठा हो गई है. पेट दर्द अचानक नहीं होता, यह धीरे-धीरे रोजाना हमारे द्वारा की जा रही अनदेखियों को करते रहने से होता है. जैसे आप रोजाना बाहर का भोजन करते है, ख़राब व धूल चिपकी हुई बाजार की चीजे खा रहे है तो यह एक दिन आपके पेट में दर्द का कारण बन जाता है. ऐसे में बार बार पेट दर्द होना शुरू होता है”

bar bar pet dard hona, ruk ruk kar pet dard hona

रुक रुक कर पेट दर्द होना इलाज

Ruk Ruk Kar Bar Bar Pet Dard Hona in Hindi

  • पेट दर्द रुक रुक कर करने पर अदरक के एक छोटे से टुकड़े पर ज़रा सा नमक लगाकर उसे मुंह में डालकर चूसे तो इससे गैस, कब्ज, बैक्टीरिया से हो रहे दर्द में लाभ मिलता है.
  • अजवाइन और सोंठ दोनों को बराबर लेकर अच्छे से बारीक़ पीस लें, पाउडर जैसा बना लें. अब इसमें ज़रा सी कालीमिर्च भी मिला दें. फिर रोगी को हलके गर्म पानी के साथ यह मिश्रण पीला दें.
  • एक दो नीबू के रस को एक गिलास पानी मिला लें और इसमें ज़रा सा जीरा मिलाकर पिए. इस तरह नीबू की शिकंजी बनाकर पिने से बैक्टीरिया के वजह से होने वाले पेट दर्द का इलाज होता है.
  • अलोएवेरा के पत्तों का रस निकाल कर उसमे ज़रा सी चीनी शकर मिलाकर पिने से भी रुक रुक कर बार बार पेट दुखने की तकलीफ में आराम मिलता है.
  • सेब के सिरके के साथ शहद मिलाकर लेने से दर्द में आराम मिलता है
  • थोड़ी सी सौंफ को तवे पर सेंक कर खाने से भी बार बार हो रहे पेट दर्द में आराम मिलता है

बार बार पेट का दर्द सेहत के लिहाज से किसी भी तरह से ठीक नहीं होता यह बहुत नुकसान करता है इसलिए आप इसका जल्दी से उपचार जरूर करवाए.

अगर आपको पेट की समस्या ज्यादातर होती रहती है तो यह उपाय आजमाए

  • पतंजलि स्टोर से गौ मूत्र ले आये फिर रोजाना सुबह खाली पेट 2- 4 चम्मच या आधा कप गौ मूत्र पिए और इसको पिने के 20-25 मिनट बाद तक कुछ न पिए और खाये. (हो सके तो सुबह उठने के बाद ही जितने जल्दी हो सके चाय आदि के पहले ही इसका सेवन कर ले). इस उपाय से पेट के सभी रोग जड़ से ख़त्म हो जायेंगे, पेट साफ़ रहेगा गैस, कब्ज, एसिडिटी आदि सभी से छुटकारा मिलेगा.
  • रोजाना भोजन करने के बाद एक गिलास छाछ पिए
  • छाछ न मिले तो एक कप दही पिए
  • दिन में ज्यादा से ज्यादा पानी पिए
  • खाने में साफ़ सफाई का खास ध्यान रखे
  • भोजन में चटनी व हरी मिर्च का सेवन भी करे
  • 3-4 दिन में एक बार ज्यादा हरी मिर्च खाये, यह पेट को खुलकर साफ़ करने में मदद करती है.

अगर आपने कुछ बाजार का भोजन किया है या आप ज्यादातर बाजार का थोड़ी कम सफाई वाला भोजन करते है तो और आपको भी लगता है की मेरा पेट दर्द उल्टा सीधा कुछ भी खा लेने के वजह से हो रहा है. तो आप सबसे पहले तो पानी ज्यादा पिए, जितना ज्यादा हो सके पिए.

पानी पेट को साफ़ करने में मदद करेगा जिससे पेट में पहुंचे हुए बेकार के पदार्थ फ़िल्टर हो कर बाहर निकल सके. इसके अलावा छाछ और दही का ज्यादा से ज्यादा सेवन करे, यह आपको उसी समय कर लेना चाहिए और याद रखे इस बिच आप भोजन न करे, छाछ, दही, फलों का रस आदि का सेवन करे तो जल्दी से जल्दी रुक रुक कर पेट दर्द करना जड़ से ख़त्म होगा.

Ruk ruk kar pet dard hona ke upay के इस पोस्ट के अलावा हमने और भी पोस्ट पेट के रोगों पर लिखे है कारण लक्षण आदि सब कुछ बताया है आप उन्हें भी जरूर पड़ें.

इस तरह आप थोड़ी थोड़ी देर में रुक रुक कर बार बार पेट दर्द होने का इलाज के उपाय आजमाकर इससे छुटकारा पा सकते है. बाकी इसके बाद भी अगर आपको पेट के दर्द से आराम न मिले तो फिर आप डॉक्टर को जरूर दिखाए, क्योंकि इसके पीछे गंभीर रोग भी हो सकता है, जैसे अपेंडिक्स होना, पेट की आंतों में खराबी होना आदि.

आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.