yoga for sciatica in hindi, साइटिका के लिए योग, sciatica ke liye yoga

साइटिका होने के लक्षण क्या होते है और साइटिका के खास योगासन

साइटिका के लक्षण क्या होते है यह रोग अब बहुत आम-सा होता जा रहा हैं. बदलती आधुनिक दुनिया में हमारा खान-पान व रहन सहन भी काफी बदल गया हैं और इसी वजह से मानव में दिन ब दिन नए रोग जन्म लेते नजर आ रहा हैं.

बात की जाए साइटिका की तो यह ज्यादातर महिलाओं में पाया जाता हैं, इसके कई कारण हो सकते हैं. इसी बारे में हम आपको यहां पर जानकारी देंगे साथ ही पीठ दर्द साइटिका के लिए योग के बारे में भी बताएंगे.

क्योंकि एक्सरसाइज (व्यायाम) के जरिये साइटिका से जल्द उभरा जा सकता हैं, आइये जाने इस सुई की चुभन सा होने वाले रोग के बारे में पूरी जानकारी.

साइटिका क्या होता है

  • हमारे शरीर साइटिका नर्व होती हैं जो की कमर से जांघों के अंदर से होकर पैरों के तलवों तक तक गुजरी हुई होती हैं, यह हमारे शरीर की सबसे लंबी नर्व होती हैं. जब इस साइटिका नर्व में कोई परेशानी उत्पन्न होती हैं तो तब जांघों व पैरों में दर्द का एहसास होता हैं इसी को साइटिका की बीमारी कहते हैं. निचे पढ़िए साइटिका के लिए योग के बारे में.
  • पोस्ट को पूरा एन्ड तक ध्यान से पड़ें.

Sciatica Ke Lakshan Aur Yoga

साइटिका के लक्षण बताएं क्या है

साइटिका एक दर्द देने वाला रोग हैं, इसका दर्द जांघों, कूल्हों के अंदर महसूस होता हैं यह दर्द कमर व कमर के निचले हिस्सों में भी होता हैं. साइटिका होने के निम्न लक्षण हैं –

  • कमर के निचले हिस्सों में दर्द होना
  • उठते और बैठते वक्त पैरों में दर्द होना
  • कूल्हों में दर्द होना भी लक्षण है
  • पैरों में जलन होना
  • कमर के निचले हिस्से, कूल्हों आदि में झनझनाहट होना
  • पैरों को हिलने में दिक्क्त होना भी लक्षण है
  • लंबे समय तक कमर से लेकर जांघों में दर्द बना रहना
  • एक दम अचानक तेज सुई की चुभन सा दर्द होना लक्षण है
  • साइटिका शरीर के दोनों हिस्से में से सिर्फ एक ही तरफ होता है

आदि यह सभी साइटिका होने के संकेत है, अगर आपको भी अपनी कमर से लेकर जांघों में इस तरह के दर्द का एहसास होता हैं व यह लक्षण दिखाई देते हैं तो समझ लें की आप भी साइटिका रोग के शिकार हैं.

कारण

  • शरीर में कफ बढ़ जाने के कारण से
  • स्लिप डिस्ट में degeneration होने से
  • स्लिप डिस्क का खिसकने के कारण
  • एक्सीडेंट के वजह से
  • ज्यादा भारी वजन उठाने के कारण
  • हड्डियों में ग्रीस ख़त्म होने से
  • स्लिप डिस्क में संकुचन के कारण
  • साइटिका नर्व पर दबाव पढ़ने से आदि कई कारणों से साइटिका का रोग हो सकता हैं.
  • आयुर्वेदिक नुस्खों के जरिये भी आप साइटिका से छुटकारा पा सकते हैं, हमने पिछले लेख में ऐसे ही रामबाण नुस्खे दिए थे आप इस लेख को पड़ने के बाद उसे भी एक बार जरूर पढियेगा – साइटिका का इलाज 5 उपाय दवा 

अब हम आपको साइटिका में योगासन के बारे में जानकारी देंगे, ऐसे योगासन/एक्सरसाइज जिनके करने से साइटिका नर्व असर पड़ेगा व दर्द में आपको राहत मिलेगी. इस तरह आपकी साइटिका नर्व मजबूत भी होगी साथ ही पैरों के अन्य तरह की समस्याओं से भी आपको राहत मिलेगी. आई जाने ऐसे ही साइटिका की एक्सरसाइज व व्यायाम के बारे में.

yoga for sciatica in hindi, साइटिका के लिए योग, sciatica ke liye yoga

Exercise & Yoga for Sciatica in Hindi

  • बताई गई योग एक्सरसाइज को खाली पेट रहने पर करे
  • सुबह व शाम का वक्त अच्छा होता हैं
  • हर एक पोस्चर को में 2 मिनट्स तक कर सकते हैं
  • अपनी सुविधानुसार करे
  • पोस्चर को अच्छे से समझने के लिए फोटो भी देखे व फोटो देखकर योग करे

  • कैसे करे – यह योगासन पेल्विक एरिया और साइटिका नर्व एरिया को अच्छी एक्सरसाइज देता हैं. इसके लिए अपने एक पैर को आगे की और लाये और उसे मोड़कर अपनी जांघ से सटा लें, पिछले पैर को सीधा रखे व अपने शरीर को भी सीधी दिशा में रखे. दोनों हाथों को अगले पैर के घुटने पर रख कर अपने ऊपरी शरीर को सीधा रखे हैं थोड़ा पीछे की और भी स्ट्रेच करे.

  • कैसे करे – यह योग पोज़ दोनों पैरों के बिच के हिस्से को स्ट्रेच करता है व साइटिका नर्व, पेल्विक एरिया को राहत देता हैं. सीधे बैठ जाए अपने दोनों पैरों को मोड़ले और अब दोनों पैरों के पंजो को आपस में मिलाये और जितना हो सके अपने शरीर के नजदीक लाने का प्रयास करे. घुटनो को ऊपर न उठने दें इस तरह पैरों को शरीर के नजदीक लाये थोड़ी देर इसी स्थिति में रुके फिर अपने ऊपरी शरीर को आगे की और झुकाने का प्रयास करे, जितना हो सके झुकाये जमीन से लगा दें.

  • कैसे करे- कमर के बल लेट जाए, अपने एक पैर को मोड़कर दोनों हाथों से पकड़ लें, अब दूसरे पैर को मोड़कर अपने पहले पैर से लगा दें. फोटो में देखिये इस तरह आपको अपने पैरों को लाना हैं. इसके बाद अपने पहले वाले पैर को निचे की और स्ट्रेच पुश करना. इससे साइटिका नर्व पर असर पड़ेगा तुरंत राहत मिलेगी, साइटिका के लक्षणों से छुटकारा मिलेगा.

  • कैसे करे – कमर के बल लेट जाये, दोनों पैरों को सीधा रखे. अब अपने एक पैर को मोड़कर पेट से लगाए व दोनों हाथों से अपने उस पैर को जकड लें अपने पेट से सटा लें. अब अपनी गर्दन को पैर के घुटने के नजदीक लाने का प्रयास करे. इस तरह बारी-बारी दोनों पैरों के साथ यह एक्सरसाइज करे.

  • कैसे करे – सीधे खड़े हो जाए, अपने दोनों पैरों व हाथों को आपस में मिला लें. जिस तरह एनाकोंडा सांप अपने शिकार को जकड़ता हैं ठीक वैसे ही अपने दोनों हाथ व दोनों पैरों को आपस में जकड़ना हैं, फोटो में देखिये आपको समझने में आसानी होगी.

  • कैसे करे – एक कुड़सी चेयर पर बैठ जाए अपने एक पैर के घुटने के ऊपर दूसरे पैर को मोड़कर रख दें. अब अपने ऊपरी शरीर को आगे की और झुकाये. अपनी सुविधानुसार झुकाये इससे आपको कमर में दर्द, कूल्हों में दर्द आदि साइटिका नर्व के कारण हो रहे दर्द में लाभ होगा. इस एक्सरसाइज को आप घर, ऑफिस आदि हर जगह पर कर सकते हैं.

साइटिका के लिए आसान योगासन

  • कैसे करे – सीधे खड़े हो जाए अब अपने एक पैर को आगे कर ले व दूसरे पैर को पीछे. अपने पिछले पैर के घुटने को जमीन से सटा दें व अगले पैर को मोड़कर खड़ा रखे. अपने शरीर को सीधा रखे व अपने दोनों पैरों के बिच के हिस्से को स्ट्रेच करे. फोटो में देखिये आपको इसी स्थिति में आना हैं. यह साइटिका के लक्षणों से राहत दिलाता हैं.

  • कैसे करे – एक चेयर या टेबल अपने आगे रख लें आप सीधे खड़े हो जाए और अपने एक पैर को उस टेबल पर रख दें, दूसरे पैर को जमीन पर ही रखे व अपने अगले पैर को टेबल पर रखते हुए सीधा ही रखे, यानी उसे मुड़ने न दें. अपने दोनों हाथों को कमर पर रख लें अब अपने शरीर को आगे की और झुकाये इस तरह ऊपर फोटो में दी गई स्थिति में आये इस एक्सरसाइज आपको बहुत राहत मिलेगी.

  • कैसे करे – सीधे खड़े हो जाए अपने दोनों हाथों को कमर पर रख लें. अब अपने एक पैर को पीछे की और ले जाए और उसे हवा में ही रखे, जितने पीछे आप ले जा सके लेजाए. अपने पुरे शरीर का वजन दूसरे पैर पर रखें इस तरह बारी-बारी दोनों पैरों पर यह एक्सरसाइज करे इससे साइटिका में राहत मिलेगी.

तो दोस्तों हमने यहां आपको बताये साइटिका के योग और लक्षण क्या होते है, sciatica ke liye yogasana के बारे में भी बता दिया है. आप इनको रोजाना करे, इससे आपकी नर्व मजबूत होगी व दर्द में भी आराम मिलेगा.

sciatica ke lakshan, साइटिका के लक्षण, sciatica symptoms in hindi

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.