Typhoid Treatment in 5 Days रामदेव पतंजलि का इलाज

typhoid ka ayurvedic ilaj, typhoid treatment in hindi
Best Solution By Baba Ramdev

जानिये 100% typhoid treatment in Hindi by baba ramdev patanjali इसके जरिये आप सिर्फ 5 से 6 दिनों के अंदर ही टाइफाइड के बुखार से छुटकारा पा सकते हैं. टाइफाइड गांव में इसको मोतीझरा व दाने वाला बुखार भी बोलते हैं. और यह लंबा चलता हैं.

इससे एक तो लिवर पूरी तरह से खराब हो जाता हैं, भूख लगना कम हो जाती हैं और थोड़ा-थोड़ा बुखार लगातार बना रहता हैं. और एक बार जिसको टाइफाइड हो जाए फिर जिंदगी में अक्सर वह उभर नहीं पाता हैं.

मैंने देखा हैं, जिन बच्चों को बचपन में टाइफाइड हो गया हैं फिर जिंदगी भर उनकी अच्छी सेहत नहीं बन पाती. उनका Immune system एक दम Weak हो जाता हैं, रोग-प्रतिरोधक क्षमता उनकी बहुत कमजोर पढ़ जाती हैं. पढ़िए टाइफाइड में आयुर्वेदिक इलाज बाबा रामदेव सिर्फ पांच दिनों में.

  • यहाँ बताये गए उपाय से हजारों लोगों का टाइफाइड ठीक हुआ है, यह बाबा रामदेव ने बताये है. आप इस पोस्ट को पूरा ध्यान से आखिर निचे तक पड़ें.

टाइफाइड का आयुर्वेदिक इलाज

Typhoid ka ayurvedic ilaj baba ramdev

typhoid ayurvedic treatment in hindi,
100 Natural Home Remedy

क्या करे टाइफाइड के लिए

  • टाइफाइड के लिए एलोपैथिक में जो दवाई दी जाती हैं वह इतनी खरतनाक होती हैं की उससे फिर आदमी का पूरा system ही बिगड़ जाता हैं. यह आंत्र ज्वर हैं आंतों में इससे सूजन आती हैं, लिवर भी इसमे कमजोर पढ़ जाता हैं और फिर आदमी सोचता हैं की बस अब तो में ठीक नहीं हो सकता. लेकिन उसकी सोच गलत है क्योंकि चाहे कैसा भी टाइफाइड फीवर हो उसका आयुर्वेदिक इलाज किया जा सकता है और टाइफाइड का आयुर्वेदिक उपचार करने से बाजार की दवा से भी दुगने अच्छे परिणाम मिलते हैं.

देसी घरेलु उपाय By बाबा रामदेव

  • टाइफाइड का ट्रीटमेंट में एक तो गिलोय घनवटी छोटे बच्चों को और अगर बहुत छोटे बच्चे हैं तो आदि गोली, 8-10 साल के बच्चे हैं तो 1 गोली. एक-एक गोली गिलोय घनवटी बच्चों को और बड़े दो-दो गोली भी ले सकते हैं. सुबह दोपहर और शाम.
  • और गिलोय घनवटी के साथ-साथ जिनको भी टाइफाइड होता ही रहता है, बुखार ज्यादा हैं तो सुदर्शन बटी भी ले सकते हैं और एक ज्वर नाशक क्वाथ हम बनाते हैं वह सभी तरह के बुखार में जबरदस्त लाभ देता हैं, इसके अंदर अनूठे गुण होते हैं.
  • बस एक चम्मच उबाल कर के पिला दो कैसा ही बुखार हो मतलब एक दम ठीक हो जाता हैं. और इससे टाइफाइड भी जबरदस्त लाभ होगा.

  • टाइफाइड के लिए, मोतीझरा के लिए, दानेदार बुखार के लिए सबसे अच्छा और 100% इसका इलाज जिसको आम भाषा में बोलते हैं न एक दम “Guaranteed typhoid fever treatment” इसका वह यह हैं.

टाइफाइड के लिए सबसे ज्यादा असरकारी काढ़ा

  • 4 से 5 मुनक्का और 8-10 अंजीर और 1 से 2 ग्राम खूबकला यह राइ से भी छोटा दाना होता हैं. एक से दो ग्राम मतलब बच्चे हैं तो 1 ग्राम बड़े हैं तो 2 ग्राम तक ले सकते हैं. छोटे बच्चे हैं तो सिर्फ दो ही मुनक्का ले लीजिये बड़े हैं तो चार ले लीजिये और बड़ी उम्र हैं तो 10 मुनक्का तक ले सकते हैं.
मुनक्का
खूबकला
अंजीर
  • छोटे बच्चों को एक दो अंजीर, बड़े चार पांच अंजीर ले सकते हैं. तो में बड़े के हिसाब से डोज बता रहा हूं. करीब एक से दो ग्राम खूब कला, चार से पांच अंजीर और आठ दस मुनक्का इनको लेकर कर सलबत्ती (चटनी बनाने की पट्टी) पर अच्छे से चटनी बना लें.

आयुर्वेदिक उपाय से करे टाइफाइड का इलाज

  • और चटनी बनाकर के इसको खा लें. खाने में भी यह अच्छे लगते हैं. मुनक्का अंजीर तो और भी बहुत ही अच्छे स्वादिष्ठ लगते हैं. तो मुनक्का, अंजीर और खूबकला यह जो खुराक बताई एक सुबह, एक बार शाम को और गिलोय घनवटी और बाकी जो उपाय बताये उसको करे बस इसमे ख़ास सावधानी यह होगी की इससे बुखार तो ठीक होगा ही और टाइफाइड का आयुर्वेदिक इलाज में भी अच्छा होगा, भूख भी अच्छी लगेगी.
  • बस इसके लिए आपको खाने में परहेज करना है केवल. दूध पिलाये भूख लगने पर, चीकू खिलाये या सेब पपीता अदि फल खा सकते हैं. मुंग की दाल का पानी भी पीस सकते हैं. इसके साथ ही बहुत पतली मूंग की दाल भी दे सकते हैं. चीकू मूंग की दाल या मूंग की दाल का पानी, दूध या और कोई हलके फल का सेवन कर सकते हैं.

Typhoid Ayurvedic Remedies

टाइफाइड में यह खाये बाबा रामदेव

और किसी का तीन दिन में किसी का पांच दिन में यह टाइफाइड बुखार अच्छा हो जाता हैं. याद रखे बच्चों को टाइफाइड की तेज दवा कभी मत दीजिये नहीं तो उनको डायबिटीज हो सकती हैं. यह हमने देखा इसलिए आपको बता रहे हैं. छोटी उम्र में बच्चों को टाइफाइड की, पेट के कीड़े की या बुखार की तेज दवा देने से उनको हमेशा के लिए pancrease हो जाता हैं, डायबिटीज हो जाती हैं. जो हमने आपको घरेलु इलाज बताया हैं इससे हानि होने की तो कोई संभावना हैं ही नहीं लाभ ही लाभ होगा और टाइफाइड 100% ठीक होगा.

बाबा रामदेव के बताये गए के आयुर्वेदिक उपचार से आप घर पर ही छोटे बच्चों का टाइफाइड और बड़ी उम्र के व्यक्तियों का भी बुखार तोड़ सकते है. यह उपाय बार-बार टाइफाइड बनने से भी रोकती है व एक बार इनका सेवन कर लिया तो जिंदगी में फिर कभी आपको यह दिक्क्त नहीं देगा.

ऐसे ही आयुर्वेदिक उपाय हमने पिछले पोस्ट में दिए थे आप एक बार उसे भी जरूर-जरूर पड़ें : NEXT PAGE

उम्मीद हैं दोस्तों आपको टाइफाइड का आयुर्वेदिक इलाज, typhoid ka ilaj baba ramdev द्वारा बताया गया है इसके बारे में जानकर बहुत ही अच्छा लगा होगा. इसके साथ ही हमने ऊपर जो पोस्ट बताये है उनको भी पड़े. अगर आप हमने जो भी बाते पिछले और इस पोस्ट में बताई है उनपर ध्यान देते है तो आपको कभी टाइफाइड नहीं होगा.

आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.