Diet For Typhoid Fever Patients in Hindi (Foods & Fruits)

typhoid food diet in hindi, typhoid fever diet in hindi, diet for typhoid patient in hindi

Bacteria Salmonella Typhi से होने वाला बुखार जिसे हम टाइफाइड, मियादी या मोतीझरा कहते हैं, इसमे रोगी का शरीर बहुत कमजोर हो जाता है. शरीर में खून की कमी पढ़ जाती हैं.

इन कमजोरियों से रोगी की हालत और दुगनी खराब हो जाती हैं जिससे उसे टाइफाइड फीवर से छुटकारा पाने के लिए ज्यादा समय लगता है और कष्ट भी ज्यादा उठाना पड़ता हैं typhoid diet for patients.

अब सवाल आता है की इस “कमजोरी से बचने के लिए क्या करे”.

टाइफाइड से होने वाली शारीरिक कमजोरी व इसके दुष्प्रभावों से बचने के लिए सिर्फ एक ही उपाय है, और वह हैं typhoid diet chart plan, foods, vegetables. आदि इनके जरिये आप शारीरिक कमजोरी से बच सकते हैं. तो चलिए अब पेशेंट्स के लिए टाइफाइड फीवर की डाइट के बारे में जानने से पहले इसके बारे में थोड़ी जानकारी समझ लि जाए.

Typhoid Diet in Hindi

Typhoid Fever Foods Diet For Patients

  • टाइफाइड फीवर कैसे होता हैं

यह फीवर Bacteria Salmonella Typhi के infection से होता हैं. यह बैक्टीरिया हमारे मुंह के जरिये शरीर के अंदर प्रवेश करता हैं. और फिर धीरे-धीरे पुरे शरीर को प्रभावित करने लगता हैं.

Salmonella Typhi Bacteria पाचन तंत्र और किडनी पर ज्यादा असर करता हैं. इस दौरान शरीर में खून की कमी होने लगती हैं, शरीर का वजन कम हो जाता हैं आदि बहुत सी शारीरक कमजोरियां होने लगती हैं.

अगर समय रहते रोगी इस टाइफाइड फीवर का इलाज न करवाये तो उसकी जान भी जा सकती हैं. क्योंकि यह बुखार दिखने में तो सामान्य नजर आता हैं. इसलिए रोगी इस पर ज्यादा ध्यान नहीं देता. वह इसे सामान्य बुखार समझकर टालता रहता हैं जिसका अंजाम बहुत ही खतरनाक हो सकता हैं.

diet for typhoid in hindi

तो हमारी सलाह हैं की अगर आपको अपने शरीर में टाइफाइड के लक्षण नजर आ रहे हो तो तुरंत डॉक्टर को दिखाई. डॉक्टर आपके खून व पेशाब की जांच करवाएंगे और फिर आपको एंटीडोट्स देंगे जिसके जरिये आप कुछ ही दिनों में इससे छुटकारा पा सकेंगे.

यह बुखार निचे दिए जा रहे कारणों से होता हैं.

  1. गंदे पानी के सेवन से
  2. खराब व 1-2 दिन पुराने भोजन का सेवन करने से
  3. किसी रोगी का झूठा पानी पिने से
  4. रोगी का झूठा भोजन करने से
  5. Kitchen में साफ़ सफाई न रखने से
  6. सामान्य बुखार आने पर उसकी देख भाल न करने पर
  7. सर्दी जुकाम का समय पर इलाज न करवाने पर
  8. बार-बार बुखार आने पर
  9. बरसात के मौसम में सफाई से न खाने पिने पर

आदि यह टाइफाइड बुखार की आम वजह होती हैं. इस फीवर से बचने के लिए इन बातों पर खास ध्यान दें ताकि भविष्य में आपको कभी यह बुखार न हो. क्योंकि यह बुखार लंबे समय तक रहता हैं और शरीर को बहुत कमजोर कर देता हैं. तो चलिए अब हम इसके बारे में जानते हैं टाइफाइड पेशेंट डाइट चार्ट इन हिंदी में .

Typhoid में Diet Foods कैसे होने चाहिए

  • किसी भी तरह की बीमारी में रोगी का शरीर बहुत कमजोर हो जाता है, उसकी पाचन क्रिया ठीक से काम नहीं कर पाती. इसलिए इस अवस्था में यह जरुरी होता हैं की रोगी को ऐसा भोजन दिया जाए जिसमे Protein और Calorie भरपूर मात्रा मिलती हो, इसके साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा जाना चाहिए की वह भोजन हल्का हो ताकि मरीज के पाचन तंत्र को उस भोजन को पचाने में ज्यादा मेहनत न करनी पढ़ें.
  • बस यही किसी भी रोग के Diet chart plan की Definition होती हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए Doctors भी मरीज को हल्का भोजन करने की सलाह देते हैं. तो शायद अब आपने बीमारी हालात में खान पान का क्यों ध्यान रखना चाहिए इस बारे में अच्छे से समझ ही लिया होगा. अब आगे हम आपको टाइफाइड के patients के लिए एक सही डाइट प्लान बताएंगे. इसके जरिये रोगी को बहुत राहत मिलेगी.
बड़े किशमिश दाग

टाइफाइड फीवर में किशमिश (इसे मुनक्का भी कहा जाता हैं) बहुत ही प्रभावकारी होते हैं. इनके सेवन से टाइफाइड में बहुत आराम मिलता हैं व जल्दी तबियत ठीक होती हैं. इनको आप बाजार से बड़ी आसानी से खरीद सकते हैं. यह बाजार में छोटे और बड़े दोनों साइज में मिलते हैं. आपको बड़े किशमिश का सेवन करना है यह बहुत ही असरकारी होते हैं. इन्हे आप कभी भी खा सकते हैं.

  • टाइफाइड में आप निचे दी जा रही चीजों का सेवन कर सकते हैं

Typhoid Foods & Fruits Diet (Natural Care)

  • सब्जियों का सूप
  • ग्लूकोस का पानी
  • नारियल पानी
  • संतरे, अनार, सेब, आदि सभी तरह के Fruits juices का सेवन कर सकते हैं
  • छाछ, धनिया और केले का सेवन कर सकते हैं (Buttermilk with Banana)
  • वह भोजन जिसमे Fibre कम मात्रा में उसका सेवन किया जा सकता हैं (Low-Fibre Foods)
  • मूंग की दाल की खिचड़ी
  • पालक का सूप
  • पतली रोटियां
  • Coconut Water
  • Pasta
  • White Rice
  • Potatoes
  • White Bread
  • Bananas
  • Fruit Juice.
  • Barley Water
  • Porridge
  • Rice
  • Kanjee
  • Rava
  • Fruit Juices With Glucose

एक चम्मच शहद को एक गिलास हलके गर्म पानी में मिलाकर रोजाना सुबह के समय खाली पेट इसका सेवन करे

किन चीजों को नहीं कहना हैं (Foods To Avoid)

  1. किसी भी तरह के बुखार में बाजार की बनी हुई चीजे न खाये
  2. Fast Foods आदि का सेवन न करे
  3. मसालेदार सब्जियां, चटनी, और तीखे भोजन से बचे

टाइफाइड डाइट टिप्स इन हिंदी

  1. अगर आपके क्षेत्र में पानी ख़राब आता हैं तो उसे उबालकर पिए
  2. बुखार में ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करे
  3. अगर आप ज्यादा पानी नहीं पि सकते तो नारियल पानी और अनार के रस का सेवन करे
  4. साफ सफाई का खास ध्यान रखे
  5. हाथ धोकर ही खाने की चीजें खाये
  6. बुखार के समय एक ही बारी में पेट भर कर भोजन न करे. थोड़ा-थोड़ा करके भोजन करे
  7. टाइफाइड की दवाइयों का पूरा सेवन करे जब तक की Course ख़त्म न हो जाए

तो अब आप इन आहार पर ध्यान दें typhoid foods fruits for patients and typhoid diet in Hindi और हमने जो टाइफाइड का और भी पोस्ट लिखे है उनको भी पड़ें. इसके अलावा हमने जो टाइफाइड बुखार के बारे में और पोस्ट लिखे है वह भी पड़ें उनमे इसके इलाज के लिए दवा और नुस्खों के बारे में पूरी जानकारी दी है.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.

6 Comments

  1. Babaji mujhe pichle 12-13 saal se tiefied ho raha hai saal me 2 bar holi-deewali ke time hota hai .docters ko bahut dikhaya lekin wapis time aate hi dobara ho jata hai.kya karu bahut paresaan hu. Koi upay batayen taki dobara na ho

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Please Don\'t Try To Copy & Paste. Just Click On Share Buttons To Share This.